loading...
Hindi News / स्वास्थ्य चिकित्सा / एमआईटी ने बनाई पेट के अंदर फैलकर कैंसर व अल्सर ट्रैक करने वाली दवा

एमआईटी ने बनाई पेट के अंदर फैलकर कैंसर व अल्सर ट्रैक करने वाली दवा



हेल्थ डेस्क. एमआईटी ने जेली जैसी एक दवा बनाई है जो पेट के अंदर फैलकर कैंसर और अल्सर जैसी बीमारियां एक महीने तक ट्रैक कर सकती है। दरअसल, इसमें लगा सेंसर पेट का तापमान लगातार ट्रैक करता रहता है। वहीं, कैल्शियम-आयन सॉल्यूशन पीने के बाद दवा सिकुड़कर पुराने आकार में आ जाती है और आसानी से शरीर से बाहर निकल आती है।

    • शोध के मुताबिक, दवा को दो तरह के हाउड्रोजेल से तैयार किया गया है। इससे दवा पेट के अम्लीय वातावरण में भी जाकर फूल जाती है। एमआईटी के प्रोफेसर शुयान्हे झाओ के मुताबिक, हमारा लक्ष्य करीब 30 दिन तक मरीज में पेट इसे रखकर मरीज की हेल्थ को मॉनिटर करना है।
    • शोध के मुताबिक, दवा को बनाने का आइडिया पफरफिश से आया। यह खास तरह की मछली जो खतरा दिखने पर काफी मात्रा में पानी पेट में भर लेती है और फूलकर काफी सख्त हो जाती है। मरीज को इसे निगलने में दिक्कत न हो इसलिए इसे जेल के रूप में तैयार किया गया है।
    • दवा की अंदरूनी लेयर में सोडियम पॉलीएक्रेलेट का इस्तेमाल किया गया है जो तेजी से पानी सोखता है। यह आसानी से मल के रूप में शरीर से बाहर न जाए इसलिए वैज्ञानिकों ने ऐसे कणों का इस्तेमाल किया है जो पेट में जाकर तुरंत भी फूल जाते हैं।
    • दवा कितनी सख्त है इसकी जांच ने के लिए वैज्ञानिकों ने इस पर काफी दबाव डाला, मशीन से निचोड़ने की कोशिश जिसमें यह सफल साबित हुई। वैज्ञानिकों ने यह प्रयोग सुअरों पर किया है। जिसमें पाया गया कि सेंसर की मदद से करीब 30 दिन तक इंसान या जानवरी की एक्टिविटी पर नजर रखी जा सकती है।
    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      MIT engineers designed ingestible jell o line pill moniter cancer in the stomach

Check Also

दर्द और दौरों से जूझ रही 31 साल की महिला को खून चूसने वाले कीड़े से हुई थी बीमारी

हेल्थ डेस्क. 31 साल की लौरा मैकलिओड्स गंभीर लाइम डिजीज से जूझ रही हैं। इसका …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *