loading...
Hindi News / राज्य / बिहार / जलस्तर गिरने से पीने के पानी के लिए मचा हाहाकार, हर घर नल का जल योजना कब होगी पूरी, इसका ठिकाना नहीं

जलस्तर गिरने से पीने के पानी के लिए मचा हाहाकार, हर घर नल का जल योजना कब होगी पूरी, इसका ठिकाना नहीं




पिछले कई वर्षों से औसत से भी कम बारिश होने के कारण गर्मी का सीजन आने से पहले ही भूजल स्तर लगातार नीचे खिसकने लग गया है। जलस्तर गिरने से कम या मध्यम गहराई में गाड़े गए चापाकल जबाव दे रहे हैं। खासकर विधायक, मुखिया यानी पंचायत के फंड से गाड़े गए चापाकल, योजना में गड़बड़ी की पोल खोलना शुरू कर दिया है। एक तो कमजोर भूगर्भ जल भंडारण ऊपर से सिंचाई व दैनिक उपयोग में जल के असीमित दोहन का दुष्परिणाम दिखना शुरू हो गया है। पेयजल के लिए हाहाकार मच रहा है। सीएम की महत्वाकांक्षी जल नल योजना का आलम यह है कि वित्तीय वर्ष समाप्ति में महज डेढ़ माह ही शेष रह गए हैं। अब तक लक्ष्य के विरुद्ध 21 फीसदी ही काम पूरा हो पाया है।

बारिश नहीं होने से विकट हुई इलाके की स्थिति, भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ चुके हैं जनप्रतिनिधियों के फंड से लगाए गए चापाकल

मुख्यमंत्री ग्रामीण पेयजल निश्चय योजना का हाल

जिले के प्राय: प्रखंड लक्ष्य के विरुद्ध काम पूरा करने के मामले में फिसड्डी है। सबसे लचर प्रदर्शन भगवानपुर प्रखंड का है। हालांकि लक्ष्य के हिसाब से देखा जाए तो जिले के सबसे बड़े प्रखंड पातेपुर कुल वार्डों के 80 फीसदी लक्ष्य के तहत 344 वार्डों में जलनल योजना का आच्छादन करना था। लक्ष्य के विरुद्ध उपलब्धि महज 10 फीसदी है। बेहतर प्रदर्शन के मामले में अपेक्षाकृत छोटा प्रखंड सहदेई बुजुर्ग व राजापाकर 46 फीसदी उपलब्धि के साथ अंक तालिका में सबसे ऊपर हैं।

प्रखंडों में वाटर लेबल का यह है हाल

प्रखंड का नाम वाटर लेवल गिरा

हाजीपुर 22 फीट 02 इंच

लालगंज 23 फीट 03 इंच

वैशाली 20 फीट 10 इंच

बेलसर 21 फीट 00 इंच

भगवानपुर 26 फीट 03 इंच

राघोपुर 19 फीट 04 इंच

बिदुपुर 19 फीट 10 इंच

देसरी 15 फीट 05 इंच

सहदेई बुजुर्ग 18 फीट 10 इंच

महनार 19 फीट 06 इंच

महुआ 28 फीट 07 इंच

जंदाहा 25 फीट 11 इंच

पातेपुर 25 फीट 06 इंच

गोरौल 22 फीट 02 इंच

चेहराकलां 21 फीट 03 इंच

राजापाकर 30 फीट 10 इंच

प्रखंडों में योजनाओं की स्थिति

प्रखंड लक्षित वार्ड कार्य पूर्ण वार्ड कार्य पूर्णता का प्रतिशत

वैशाली 152 40 26

राघोपुर 152 18 12

महनार 125 14 11

सहदेई बुजुर्ग 90 41 46

पटेढ़ी बेलसर 93 16 17

महुआ 248 80 32

पातेपुर 344 35 10

चेहराकलां 105 22 21

जंदाहा 256 82 32

बिदुपुर 174 33 19

भगवानपुर 132 10 08

लालगंज 211 35 17

गोरौल 142 18 13

राजापाकर 130 60 46

हाजीपुर 197 29 15

देसरी 04 05 10

कुल 2600 538 21 प्रतिशत।

सुस्त पड़े कम गहराई में गाड़े गए हैंडपंप

वर्तमान परिस्थितियों को छोड़ दिया जाए तो जिले में वाटर लेवल आदर्श स्थिति में रहा है। नदी से दूर ग्रामीण इलाके में न्यूनतम 40 फीट नीचे मीठा पानी का लेवल मिल जाता है भले वह स्वास्थ्य के लिहाज से ठीक हो या न हो। अन्य जगहों पर भी 60 से 100 फीट गहराई में वाटर लेवल मिल जाता है। वाटर लेवल करीब होने का फायदा सांसद, विधायक, जिला पार्षद व पंचायत के मुखियाजी को मिल रहा है। सूत्र बताते हैं कि चापाकल अधिष्ठापन प्रति यूनिट का दर लगभग 18 हजार निर्धारित है। माननीयों के प्रतिनिधि, वर्कर अथवा बिचौलिये लाभुक को तीन से चार हजार रुपए नगद अथवा चापाकल का हेड, 30 से 40 फीट प्लास्टिक की पाइप व फिल्टर थमा कर चापाकल लगवा दिया था। ज्यादातर लाभुक अपने पैसे चापाकल गड़वाएं। यही वजह है कि कम गहराई वाले चापाकल, वाटर लेवल नीचे जाते ही जबाव दे रहे हैं।

पंचायतों को मार्च से पहले काम पूरा करने का निर्देश

<img src="images/p2.png"प्रशासनिक स्तर पर नियमित रूप से जलनल योजना की मॉनिटरिंग हो रही है। पंचायतों को हर हाल में मार्च तक काम पूरा कर लेना है। कार्य में गुणवत्ता से किसी तरह का समझौता नहीं होगा। शत-प्रतिशत लक्ष्य से पिछड़ने वाले पंचायतों के खिलाफ नियमानुकूल कार्रवाई होगी। । सर्व नारायण यादव, डीडीसी, वैशाली।

<img src="images/bulletblack.png"कई चापाकल से नहीं निकल रहा पानी

<img src="images/bulletblack.png"पानी के लिए मोहल्लों में हर दिन होती है किचकिच

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Vaishali News – when the water level falls the water for drinking water the water plan of every home tube will be complete it does not hide

Check Also

तेजस्वी की तारीफ हो, वह बंगला छोड़ते वक्त एक चम्मच भी साथ नहीं लाए: कुशवाहा

बिहार में जारी बंगला विवाद के बीच आरएलएसपी नेता उपेंद्र कुशवाहा ने पूर्व डेप्युटी सीएम …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *