loading...
Hindi News / राज्य / झारखंड / जिले में वोट प्रतिशत बढ़ाने पर फोकस, डीसी-एसएसपी ने सेक्टर मजिस्ट्रेट व बूथ लेबल पदाधिकारियों को दी ट्रेनिंग

जिले में वोट प्रतिशत बढ़ाने पर फोकस, डीसी-एसएसपी ने सेक्टर मजिस्ट्रेट व बूथ लेबल पदाधिकारियों को दी ट्रेनिंग



रांची. भारत निर्वाचन आयोग नई दिल्ली एवं मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सह अपर मुख्य सचिव मंत्रिमंडल (निर्वाचन) विभाग, झारखंड, रांची के निर्देश पर आगामी लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव 2019 को लेकर मुख्यालय स्तर पर रांची समाहरणालय के ब्लॉक ए एवं बी में मास्टर ट्रेनरों (अनुदेशक) एवं बूथ लेवल पदाधिकारियों को प्रशिक्षण दिया गया। इसमें उपस्थित मास्टर ट्रेनरों और बीएलओ को पोलिंग पार्टी और पोल डे पर व्यवस्था को लेकर प्रशिक्षण दिया गया।

  1. डीसी राय महिमापत रे ने मास्टर ट्रेनरों एवं बूथ लेवल पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि मतदान प्रतिशत बढ़ाने को लेकर सेक्टर मजिस्ट्रेट का रोल अहम है। सभी वीपीपैट की कार्यप्रणाली से अवगत हो जाएं और वीपीपैट कैसे काम करता है। इसकी पूरी जानकारी ले लें। जितनी अच्छी आपकी ट्रेनिंग होगी, उतने ही अच्छे से आप पीठासीन पदाधिकारी को ट्रेनिंग दे पाएंगे। मौके पर एसएसपी अनीश गुप्ता, आईटीडीए निदेशक अवधेश कुमार पांडे, डीआरडीए निदेशक संगीता लाल एवं अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

  2. संवेदनशील बूथों पर मतदाताओं में विश्वास जगाने के लिए कम से कम तीन बार बैठक की जाएगी। यह निर्देश डीसी ने दिया। उन्होंने 31 एस्योर्ड मिनिमम फैसिलिटी (ईएमएफ) की व्यवस्था पर ध्यान देने की बात कही। जिसमें विशेषकर रैंप की व्यवस्था, चलायमान शौचालय, पीने का पानी, फर्नीचर और साइन एज और इसकी जियो टैग फोटो होने पर जोर दिया। कलस्टर से बूथ तक जाने का रास्ता ठीक नहीं है तो इसे भी ठीक कराने का निर्देश संबंधित पदाधिकारियों को दिया गया। सेक्टर मजिस्ट्रेट का व्हाट्सअप ग्रुप बनाया जाएगा। जल्द ही चुनाव आयोग के निर्देशों की जानकारी सेक्टर मजिस्ट्रटों को दी जाएगी। साथ ही हफ्ते में एक बार सेक्टर मजिस्ट्रेट के साथ बैठक होगी।

  3. रांची जिला में बूथ लेवल पर प्रबुद्ध लोगों की सूची बनाई जाएगी। इसमें ग्राम प्रधान, मुखिया, चिकित्सक, प्रधानाध्याप आदि हो सकते हैं। डीसी ने मास्टर ट्रेनरों एवं बूथ लेवल पदाधिकारियों को कहा कि इनका नाम वीआईपी लिस्ट में सुनिश्चत किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगली बैठक में तय किया जाएगा कि किस सेक्टर के लिए कौन सेक्टर मजिस्ट्रेट होंगे। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में 1200, शहरी क्षेत्रों में 1400 और ग्रामीण क्षेत्र में 400 वोटर होने पर नए बूथ बनेंगे।

  4. मतदाताओं को नकारात्मक रुप से प्रभावित करनेवाले व्यक्ति, समूह और टोले को चिन्हित किया जाएगा। इसका निर्देश एसएसपी अनीश गुप्ता ने दिया। उन्होंने कहा कि कास्ट ग्रुप और धार्मिक ग्रुप पर ध्यान दिए जाने की जरूरत है, जो मतदाताओं को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकते हैं। कहीं भी पुलिस बल की जरूरत हो तो तुरंत संपर्क करें, थाना प्रभारी से विचार विमर्श कर लें, थानों को इससे संबंधित निर्देश दिए जा चुके हैं।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      Focus on increasing vote percentage in the district

Check Also

सड़क दुर्घटना में कार सवार युवक की मौत, नियंत्रण खोने के बाद पेड़ में मारी टक्कर

गुमला. भरनो थाना क्षेत्र के रांची-गुमला एनएच-23 पर शनिवार देर रात करीब ढाई बजे सड़क …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *