loading...
Hindi News / राज्य / राजस्थान / 2 साल से 650 स्टूडेंट्स की 48.75 लाख कॉशन मनी रोक कर बैठे अधिकारी

2 साल से 650 स्टूडेंट्स की 48.75 लाख कॉशन मनी रोक कर बैठे अधिकारी



कोटा. आरटीयू में एक के बाद एक अनियमितताएं सामने आ रही हैं। फर्जी नियुक्तियों व उद्यमिता प्रकोष्ठ पर विवाद और आयकर विभाग की ओर से बैंक खातों को सीज करने के बाद अब स्टूडेंट्स की कॉशन मनी को दबाकर रखने का मामला सामने आया है। साल 2013 से लेकर साल 2017 के बीच बीटेक पासआउट स्टूडेंट्स की कॉशन मनी करीब दो साल गुजर जाने के बाद भी नहीं लौटाई गई। आरटीयू दो साल से इस राशि पर मोटा ब्याज कमा रहा है। मामला पूरे बैच के 650 स्टूडेंट्स से जुड़ा है।

यह मामला भी जब सामने आया है कि जब उद्यमिता प्रकोष्ठ के नोडल केंद्र प्रभारी राजेश सिंघल सुर्खियों में चल रहे हैं। दरअसल, जब छात्रों को कॉशन मनी लौटाने का समय था, तब राजेश सिंघल ही चीफ प्रॉक्टर के पद पर थे। सोशल मीडिया पर जब छात्रों ने कॉशन मनी का मुद्‌दा रखा, तब सिंघल ने ही सोशल मीडिया पर जवाब दिया था कि 30 जून 2017 तक पैसा लौटा दिया जाएगा।

समझ ही नहीं पाए आरटीयू के टीचर्स

स्टूडेंट्स ने यह मामला आरटीयू के अधिकारियों व टीचर्स के सामने उठाया तो एक बार तो वह समझ नहीं पाए। यहां तक कि शिक्षकों ने इस मामले को हॉस्टल फीस की कॉशन मनी से जाेड़कर देखते हुए जल्द ही प्रक्रिया शुरू करने का आश्वासन दिया। बाद में स्टूडेंट्स ने ही पूरे कोर्स की कॉशन मनी होने की बात बताई।

ऐसा है कॉशन मनी का गणित

साल 2013 में करीब 650 बीटेक स्टूडेंट्स ने कॉशन मनी के 8 हजार रुपए जमा करवाए। नियमानुसार यूनिवर्सिटी को 500 काटकर 7500 रुपए वापस देने थे। यह प्रक्रिया फाइनल सेमेस्टर का रिजल्ट आने के बाद एक माह में पूरी हो जानी थी। 650 स्टूडेंट्स के 7500 रुपए के हिसाब से यूनिवर्सिटी के पास 48 लाख 75 हजार रुपए जमा हैं, जो दो साल पहले स्टूडेंट्स को मिल जाने चाहिए थे।

रजिस्ट्रार ने न फोन उठाया, न मैसेज का जवाब दिया

आरटीयू रजिस्ट्रार डॉ. आभा जैन ने इस मुद्‌दे पर भी अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लिया। भास्कर ने इस मुद‌्‌दे पर बात करने के लिए फोन किया तो उन्होंने फोन काट दिया। भास्कर ने मैसेज करके इस मामले पर उनका बयान लेना चाहा, लेकिन डॉ. जैन ने कोई जवाब नहीं दिया। इससे पहले वे आरटीयू में फर्जी नियुक्तियों, उद्यमिता प्रकोष्ठ के पूछे गए सवालों का उत्तर देने से बचती रही हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


48 lakh question money holders for 2 years from 650 students

Check Also

एएसपी को दो बार बेटी को बेचने की शिकायत

रावतभाटा. वार्ड नंबर 1 कोटा बैरियर निवासी लालचंद नायक ने एएसपी रावतभाटा को पत्र लिखकर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *