loading...
Hindi News / टेक / 53% टेलीविजन यूजर्स ने चुने अपनी पसंद के चैनल, इनमें 6.5 करोड़ केबल टीवी और 2.5 करोड़ डीटीएच ग्राहक

53% टेलीविजन यूजर्स ने चुने अपनी पसंद के चैनल, इनमें 6.5 करोड़ केबल टीवी और 2.5 करोड़ डीटीएच ग्राहक



गैजेट डेस्क. दूरसंचार नियामक ट्राई के मुताबिक देश के करीब 53% केबल टीवी और डीटीएच ग्राहकों ने अपनी पसंद के चैनल चुन लिए हैं। देश में करीब 17 करोड़ केबल टीवी और डीटीएच ग्राहक हैं। इनमें से 9 करोड़ ग्राहकों ने एक फरवरी से लागू हुई नई शुल्क व्यवस्था को अपना लिया है। इसके तहत ग्राहकों को अपनी पसंद के चैनल चुनने का अधिकार दिया गया है। अब उन्हें सिर्फ उन्हीं चैनल के पैसे देने हैं जिन्हें वह देखना चाहते हैं।

  1. ट्राई चेयरमैन आरएस शर्मा ने कहा, जिन 9 करोड़ टीवी ग्राहकों ने ऑपेरटर के पास पसंद के चैनल के बारे में रजिस्ट्रेशन कराया है उनमें से 6.5 करोड़ केबल टीवी ग्राहक और 2.5 करोड़ डीटीएच ग्राहक हैं। उम्मीद है कि जल्द ही बाकी लोग भी अपने पंसद के चैनल चुन लेंगे। डीटीएच एक प्री-पेड मॉडल है। जैसे ही ग्राहकों के लंबी और छोटी अवधि के पैक खत्म होंगे, वह भी अपनी पसंद के चैनलों का चयन करेंगे।

  2. शर्मा ने कहा, उपभोक्ताओं को किसी तरह की असुविधा न हो, इसके लिए रेगुलेटर लगातार स्थिति पर नजर रखे हुए है। जहां जरूरत है हम ऑपरेटरों की मदद कर रहे हैं। दिक्कतों के हल के लिए नियमित बैठक भी बुला रहे हैं। उन्होंने बताया, ट्राई की ग्राहकों तक पहुंच बढ़ाने और जागरूकता अभियान चलाने की भी योजना है।

  3. ट्राई ने केबल बिल को दो हिस्सों में बांट दिया है। पहले हिस्सा नेटवर्क कैपेसिटी फीस(एनसीएफ) कहलाएगा। इसे आप स्थाई मासिक किराया समझ सकते हैं। ट्राई ने इसकी अधिकतम खुदरा कीमत 130 रुपए तय किया है। जिसके तहत आप 100 टीवी चैनल चुन सकते हैं। इसके बाद प्रत्येक 25 चैनल के स्लैब पर 20 रुपए अलग से देने होंगे। इसे ऐसे समझिए कि यदि आपने 110 चैनल चुने हैं तो आपका मासिक किराया 130+20=150 रुपए होगा। यदि आप 130 चैनल चुनते हैं तो मासिक किराया 170 रुपए होगा।

  4. ब्रॉडकास्टर्स ने अपने चैनलों के बुके(पैकेज) भी पेश किए हैं। उपभोक्ता एक पे-चैनल को खरीदने के अलावा बुके भी खरीद सकते हैं। ऐसे में कई ग्राहकों में उलझन है कि चैनल लेना सस्ता होगा या बुके। इसके समाधान के लिए ट्राई ने वेबसाइट जारी की है। ट्राइ की वेबसाइट https://channel.trai.gov.in/ पर जा कर आप अपने पसंदीदा चैनल चुन सकते हैं। चैनल चुनने पर यह आपको मासिक खर्च बता देगी। साथ ही यह वेबसाइट आपके चैनल हटाए बिना यह भी बता देगी कि कौन सा बुके लेने पर आपका मासिक बिल कम हो जाएगा।

  5. दूसरा हिस्सा चैनल की कीमत का होगा। देश में 536 फ्री और 328 पे-चैनल मौजूद हैं। फ्री चैनल चुनने पर मासिक किराए में कोई बढ़ोत्तरी नहीं होगी। कोई भी पे-चैनल चुनने पर केवल उस चैनल की कीमत आपके बिल में जुड़ेगी। उपभोक्ता किसी भी ब्रॉडकास्टर का बुके भी चुन सकते हैं। मासिक किराए, चैनल की कीमत या बुके की कीमत पर 18 प्रतिशत टैक्स लगेगा।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      53 percent of television users choose the channel of their choice says trai

Check Also

दुनिया में 5 साल में 25 करोड़ महिला मोबाइल यूजर्स बढ़ीं, देश में 59% महिलाओं के पास फोन

गैजेट डेस्क. भारत में 59% महिलाओं के पास मोबाइल फोन हैं, लेकिन पुरुषों की तुलना …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *