loading...
Hindi News / राज्य / झारखंड / आदित्यपुर: जमीन पर नहीं पोस्टर में सफाई

आदित्यपुर: जमीन पर नहीं पोस्टर में सफाई




डीबी स्टार <img src="images/p3.png" जमशेदपुर

स्वच्छता सर्वे की मियाद खत्म होने के बाद आदित्यपुर नगर निगम क्षेत्र की सड़के इन दिनों कचरों से पटे पड़े है। पूरे निगम क्षेत्र में जगह-जगह कचरा कूड़ेदान व सड़क किनारे फैला हुआ है। नियमित कचरा उठाव नहीं होने से कचरा कूड़ेदान से बाहर निकल दायरा फैलाता जा रहा है। जिसे जानवर भोजन की तलाश में और फैला रहे है। ऐसा ही हाल रहा तो तेजी से लोग बीमारी के शिकार होंगे। आम लोगों की माने तो दस से पंद्रह दिनों में भी कचरा उठाव नहीं हो रहा है, जिससे बदबू और गंदगी से लोग परेशान है।

वहीं दूसरी तरफ आदित्यपुर नगर निगम प्रशासन नियमित सफाई के दावे कर रहा है। निगम प्रशासन का कहना है कि सफाई के लिए नगर निगम को सात जोन में बांटा गया है। पांच एजेंसी सफाई के लिए नियुक्त की गई है, सभी को अलग अलग वार्ड में झाड़ू लगाने व नाली सफाई का जिम्मा मिला हुआ है। कचरा उठाव कर निपटारे की जिम्मेदारी भी इन्हीं की है। सभी 5 एजेंसियों को मिलाकर कुल 210 सफाई कर्मचारी काम करते हैं। आदित्यपुर नगर निगम साल में केवल सफाई के लिए 2 करोड़ रुपये खर्च कर रहा है। सफाई के लिए यह राशि सफाई करने वाली एजेंसी को भुगतान होती है। निगम क्षेत्र में सफाई के लिए वार्ड कमिश्नर खुद भी सफाईकर्मी को भेजते है, बावजूद सफाई बड़ी समस्या है। इलाके में ठीक ढंग से सफाई नहीं हो रही है।

सीधी बात

विनोद श्रीवास्तव मेयर, अादित्यपुर ननि

Q| निगम क्षेत्र में जगह-जगह कचरा फैला है। सफाई नियमित नहीं हो रही है?

– सफाई हो रही है, पर कचरा उठाव व निपटारे में समस्या है। गंदगी की स्थिति है, यह जानते है।

Q| क्या समस्या है? समाधान क्या है?

– सबसे बड़ी समस्या कचरा उठाव के बाद निपटारे का है। सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के लिए प्लांट नहीं बन पा रहा है, प्लांट लगाने के लिए उत्तमडीह की जमीन के अधिग्रहण में विरोध हो रहा है। जिला प्रशासन से पुलिस बल की मांग की गई है। इसके बाद अधिग्रहण की प्रक्रिया आगे बढ़ेगी।

Q| इसमें कितना वक्त लगेगा, कब साफ-सुथरा आदित्यपुर देखने को मिलेगा?

– हमलोग प्रयासरत है, जल्द से जल्द वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट लगेगा। सभी नागरिकों के सहयोग से साफ-सुथरा आदित्यपुर दिखेगा, हम लोग उम्मीद करते है। हाल में ही कचरा उठाव के लिए 17 ऑटोटीपर खरीदा गया है। इससे उठाव नियमित होगा, स्थिति बेहतर होगी।

सर्वे खत्म…स्वच्छता गायब

जन कल्याण मोर्चा कार्यालय के पास

आंकड़ों में सब ठीक…

<img src="images/bulletblack.png"02 करोड़ का है सालाना बजट, सफाई के लिए लगे 5 एजेंसी के 210 कर्मचारी

<img src="images/bulletblack.png"38 ऑटो टीपर है कचरा उठाव के लिए, 17 कुछ दिन पहले है खरीदे गए

<img src="images/bulletblack.png"250 प्लास्टिक डस्टबिन विभिन्न वार्डों में लगाएं गए थे

<img src="images/bulletblack.png"210 क्षेत्र में कुल कर्मचारी

<img src="images/bulletblack.png"35 वार्ड आदित्यपुर नगर निगम क्षेत्र में <img src="images/bulletblack.png"40 हजार परिवार इलाके में रहते हैं

<img src="images/bulletblack.png"2.75 लाख है इस क्षेत्र की आबादी

पटेल चौक: डिब्बे के बाहर कचरा

<img src="images/bulletblack.png"टूट-फूट गए है प्लास्टिक डस्टबिन, कई जगह जला दिए गए है डस्टबिन

<img src="images/bulletblack.png"कचरा निपटारे के लिए नहीं है कोई सॉलिड वेस्ट ट्रीटमेंट प्लांट

चुना भट्‌टा के पास कचरे के डिब्बे से बाहर निकलता कचरा।

वार्ड नम्बर 26 में कचरे वाली गली

इलाके में ये एजेंसी करती है सफाई

<img src="images/bulletblack.png"एएसबी ब्रदर्स <img src="images/bulletblack.png"रौनक इंटरप्राइजेस <img src="images/bulletblack.png"सिद्धि इंटरप्राइजेस <img src="images/bulletblack.png"विष्णु इंटरप्राइजेस <img src="images/bulletblack.png"एएस रिसोर्स

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Jamshedpur News – adityapur no posters on the ground cleaned

Check Also

पाकिस्तान मुर्दाबाद का नारा लगाने का विरोध करने पर हंगामा, वीडियो वायरल

साहेबगंज. जम्मू कश्मीर के पुलवामा में शहीद सीआरपीएफ जवानों के सम्मान में निकाले गए कैंडल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *