loading...
Hindi News / राज्य / झारखंड / जो अधिकारी भाजपा कार्यकर्ताओं की नहीं सुनेंगे, होगी त्वरित कार्रवाई : मुख्यमंत्री

जो अधिकारी भाजपा कार्यकर्ताओं की नहीं सुनेंगे, होगी त्वरित कार्रवाई : मुख्यमंत्री



रांची. मुख्यमंत्री रघुवर दास मंगलवार को भाजपा नेताओं के प्रति कड़क और कार्यकर्ताओं के प्रति सॉफ्ट नजर आए। कहा – जो अधिकारी भाजपा कार्यकर्ताओं की नहीं सुनेंगे, उनके खिलाफ त्वरित कार्रवाई होगी। कार्यकर्ता पार्टी की आत्मा होते हैं। उनके सम्मान की रक्षा करना हमारा दायित्व है। हरमू मैदान में आयोजित रांची, खूंटी और हजारीबाग संसदीय क्षेत्र के शक्ति केंद्र कार्यकर्ताओं को सीएम संबोधित कर रहे थे।

  1. उन्होंने कहा कि पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं का परिचय पत्र बन रहा है। शीघ्र ही उसे वितरित किया जाएगा। ऐसा होने के बाद वे किसी भी सरकारी कार्यालयों में आम लोगों की समस्याओं को लेकर जा सकते हैं। प्रशासनिक अधिकारियों को यह आदेश होगा कि उनके पास ऐसे जो भी भाजपा कार्यकर्ता आते हैं, वह उनकी सुनें और काम करें। सीएम ने कहा कि यह सरकार कार्यकर्ताओं के कारण ही है। भाजपा कार्यकर्ता सम्मान चाहते हैं। उन्हें हर हाल में यह सम्मान मिलना चाहिए। नेताओं के प्रति सीएम ने बोला, बड़े नेता हों या छोटे नेता, प्रदेश के अधिकारी हों या मंत्री, सभी को गांव-गांव जाना होगा। रांची कार्यालय या जिला पार्टी कार्यालयों में अड्डेबाजी बंद हो। नेतागिरी बंद हो। सभी कार्यकर्ता बनें और शक्ति केंद्र के कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर चुनाव में काम करें। इस बार वर्ष 2014 लोकसभा चुनाव से भी अधिक अधिक वोट लाना है।

  2. भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमण सिंह ने मंगलवार को भाजपा कार्यकर्ताओं से कहा कि वे इस लोकसभा चुनाव की तैयारी धर्मयुद्ध की तरह करें। संसदीय चुनाव में अनैतिक ताकतों के गठजोड़ को परास्त करना है। भारत विरोधी तत्वों को मात देना है। यह लोकसभा चुनाव वैचारिक युद्ध की चरम परिणति होगा। एक और देश का गौरव बढ़ाने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं तो दूसरी ओर भ्रष्टाचारियों की वैसी जमात है, जो जेल जाने के भय से एक-दूसरे के साथ हो रहे हैं। छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमण सिंह हरमू मैदान में आयोजित रांची, खूंटी और हजारीबाग संसदीय क्षेत्र के शक्ति केंद्र कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण का सपना पूरा करना है, जहां कांग्रेस अपने वकीलों के माध्यम से लगातार अड़चनें पैदा कर रही है।

  3. डॉ रमण ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान को सबक सिखाया। हमारी सेना ने पाकिस्तान की सीमा में घुसकर उनके आतंकी अड्डों को तबाह किया। केंद्र सरकार की पहल से हर क्षेत्र में विकास हुआ है। गरीबों के जीवन में बदलाव आया है। देश तरक्की कर रहा है। विदेशों में भारत का सम्मान बढ़ा है। रमण सिंह ने कहा कि इस बार 400 सीटों पर जीत का लक्ष्य पाने के लिए झारखंड की सभी 14 सीटें जीतनी हैं। उन्होंने कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे अपने-अपने क्षेत्र के हर घरों में जाकर केंद्र सरकार की एक-एक योजनाओं की जानकारी दें, उपलब्धियां बताएं। पहले केंद्र में सरकार बनाएं, फिर झारखंड में भाजपा की सरकार लाएं। डॉ. रमण ने कहा कि 15 साल से छत्तीसगढ़ में विकसित राज्य बनाने के बाद भी उनकी हार इसलिए हुई कि पार्टी कार्यकर्ता अति आत्मविश्वास के शिकार हो गए थे। इसलिए अति आत्मविश्वास से बचते हुए काम करना है। विषय प्रवेश प्रदेश उपाध्यक्ष प्रदीप वर्मा, संचालन प्रदेश महामंत्री दीपक प्रकाश, वंदे मातरम का गान राजश्री जयंती और धन्यवाद ज्ञापन हटिया विधायक नवीन जायसवाल ने किया। सम्मेलन को कांके विधायक जीतू चरण राम, सिमडेगा विधायक विमला प्रधान, ईचागढ़ विधायक साधू चरण महतो ने संबोधित किया।

  4. विपक्ष के महागठबंधन के प्रयास पर कटाक्ष करते हुए डॉ. रमण ने कहा कि यह महागठबंधन नहीं, बल्कि लुटेरों का महाठगबंधन है। जितने भ्रष्ट लोगों ने देश को लूटा, आज वे साथ हो रहे हैं। कांग्रेस, सपा, बसपा, तृणमूल कांग्रेस, झामुमो, वाम दल आदि पार्टियों को बेनकाब करना है। भाजपा कार्यकर्ता केरल अौर बंगाल में इनके दमन का शिकार हो रहे हैं।

  5. डॉ. रमण ने कहा कि झारखंडवासियों के लिए यह गौरव की बात है कि उनका राज्य आज विकास के क्रम में देश में दूसरे स्थान पर खड़ा है। यहां पर नक्सलियों का सफाया हो गया। डर के मारे नक्सली नेता दूसरे राज्य में समर्पण कर रहे हैं। महिलाओं के नाम पर एक रुपया में 50 लाख तक की संपत्ति का रजिस्ट्रेशन हो रहा है। 57 लाख परिवार आयुष्मान भारत योजना में शामिल हुआ है। सुकन्या योजना से बेटियों का कल्याण होगा। रमण ने कहा कि इनमें से एक-दो योजनाएं अगर उन्होंने अपने राज्य में लागू कर दी होती, तो शायद उनकी हार नहीं होती।

  6. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने विपक्षी दलों को लक्ष्य कर कहा कि चोर चिल्ला रहे हैं कि मोदी हटाओ। पर, अब इनकी लूट की राजनीति नहीं चलनेवाली। इनकी दुकानें बंद करानी हैं। सीएम ने एक बार पुर जेएमएम नेता हेमंत सोरेन पर आदिवासियों की जमीन हड़पने का आरोप लगाया। कहा – रांची, बोकारो, साहेबगंज, धनबाद आदि कई शहरों में हेमंत ने गलत तरीके से जमीन खरीदी है। उन्होंने कहा कि संथाल के आदिवासी अब सजग हो चुके हैं। उनकी नई पीढ़ी अब विकास चाहती है। मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि चिरुडीह कांड में बाबूलाल मरांडी ने जेएमएम अध्यक्ष शिबू सोरेन को जेल भिजवाया था। कांग्रेस ने गुरुजी के आवास पर रेड डलवाया था। पर, आज सत्ता के लिए ये सभी एक साथ होना चाहते हैं। पर, जनता जानती है कि स्थिर सरकार के कारण ही आज केंद्र और राज्य सरकार विकास के काम कर रही हैं। सीएम ने आरोप लगाया कि कांग्रेस का इतिहास घोटालों से भरा है। कांग्रेस ने निर्दलीय को सीएम बना कर 4 हजार करोड़ का घोटाला कराया।

  7. पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि कांग्रेस ने देश को कभी भी अपना परिवार नहीं माना। उन्होंने सिर्फ सत्त संभाला, पर देश और जनता को नहीं संभाला। दरअसल कांग्रेस को देश, यहां की संस्कृति और पहचान से कोई लेना-देना नहीं है। पीएम मोदी ने भारत को एक परिवार मानते हुए योजनाएं बनाईं। इन योजनाओं को भावपूर्ण तरीके से लोगों के साथ जोड़ा। मुंडा ने उपस्थित कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे संकल्प पत्र के लिए लोगों के विचारों का संग्रह करें।

  8. नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने आह्वान किया कि सभी कार्यकर्ता अपने-अपने बूथों पर कमल फूल खिलाएं। हमारा लक्ष्य होना चाहिए कि सभी बूथों पर भारी मतों से भाजपा की जीत हो। महागठबंधन को लूट और भ्रष्टाचारियों का गठबंधन बताते हुए मंत्री ने कहा कि देश को मजबूत बनाने के लिए केंद्र में फिर से मोदी सरकार बनानी है।

  9. शक्ति केंद्र सम्मेलन के दौरान पार्टी के प्रदेश महामंत्री दीपक प्रकाश की मां का निधन हो गया। कार्यक्रम स्थल से महज कुछ सौ मीटर की दूरी पर ही दीपक प्रकाश का घर है। पर, वे घर नहीं गए, कार्यक्रम में बने रहे। वे अंत तक मंच संचालन करते रहे। धन्यवाद ज्ञापन के दौरान नवीन जायसवाल ने यह सूचना सार्वजनिक की। उस समय मंच पर दीपक प्रकाश काफी भावुक नजर आ रहे थे। सभा में मौजूद लोगों ने दो मिनट तक मौन धारण कर शोक संवेदना प्रकट की।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      मंच पर मुख्यमंत्री रघुवर दास।

Check Also

चार अप्रैल को होगी मॉडल स्कूल प्रवेश परीक्षा

विष्णुगढ़ | विष्णुगढ़ प्रखंड के मॉडल स्कूल में वर्ष 2019 के लिए नामांकन हेतु प्रवेश …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *