loading...
Hindi News / राज्य / मध्य प्रदेश / लोकायुक्त ने उपयंत्री को रिश्वत लेते पकड़ा, भुगतान की आखिरी किस्त के बदले मांगी 54 हजार रु. रिश्वत

लोकायुक्त ने उपयंत्री को रिश्वत लेते पकड़ा, भुगतान की आखिरी किस्त के बदले मांगी 54 हजार रु. रिश्वत



बालाघाट. जबलपुर लोकायुक्त पुलिस ने बालाघाट वैनगंगा संभाग के उपयंत्री राजेंद्र मेश्राम को रिश्वत लेते पकड़ा है। बताया जा रहा है कि उपयंत्री मेश्राम ने ठेकेदार से बिल भुगतान के एवज में 54 हजार रिश्वत मांगी थी।

ठेकेदार शेख जलाल मंगलवार को 54 हजार रुपए चुकाने जा रहा था। लेकिन इसके पहले पहले ठेकेदार ने जबलपुर लोकायुक्त से मामले की शिकायत कर दी थी। शिकायत के आधार पर लोकायुक्त पुलिस ने मंगलवार को कार्रवाई की। लोकायुक्त डीएसपी दिलीप झरवाड़े ने टीम के साथ योजनाबद्ध तरीके से कार्रवाई को अंजाम दिया।

जानकारी के अनुसार, चैनपुरी लालबर्रा के बीच पुलिया निर्माण पूरा हो गया। इसमें 29 लाख खर्च हुए। काम पूरा होने के बाद भुगतान के लिए उपयंत्री राजेंद्र मेश्राम और अधिकारी ठेकेदार शेख जलाल को एक साल से परेशान कर रहा था।

उपयंत्री ने पुलिया निर्माण के भुगतान के बदले तीन लाख की रिश्वत मांगी थी। जब अधिकारी नहीं माने तो ठेकेदार ने इसकी शिकायत लोकायुक्त से कर दी। पुलिस टीम उपयंत्री को लेकर घर गई है। वहां भी पुलिस ने जांच शुरू किया है।

इस निर्माण के बदले मांगी रिश्वत
ठेकेदार कायदी निवासी शेख जलाल खान ने वैनगंगा संभाग अंतर्गत लालबर्रा के चंद्रपुरी में 29 लाख रूपये की लागत से पुलिया का निर्माण कराया था। उसका निर्माण पूरा हो गया है, निर्माण का अंतिम बिल लगभग 5.50 लाख रुपए था, जिसके भुगतान के एवज में उपयंत्री ने 54 हजार रुपए की मांग की थी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Lokayukta caught the bribe taking bribe, one lakh was demanding bribe

Check Also

गांव शर्मसार, दरिंदा पुलिस से पहले हमारे हाथ लग जाता तो मार डालते

खंडवा. हरसूद रोड पर बसा खालवा तहसील का खेड़ी गांव पिछले दस दिनों से सब …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *