loading...
Hindi News / राज्य / बिहार / शादी में मिले उपहार से स्कूल में बनवाई स्मार्ट क्लास

शादी में मिले उपहार से स्कूल में बनवाई स्मार्ट क्लास



दरभंगा.लोगों को स्कूल से मिली शिक्षा का ऋण सूद समेत लौटाना चाहिए। खास कर सरकारी स्कूलों का। इसी से शैक्षणिक गुण का पता चलता है। सोमवार को मूसा साह मध्य विद्यालय से प्रारंभिक शिक्षा हासिल करने वाले भगवान दास मोहल्ले के श्रवण कुमार राय ने यही साबित किया है। उन्होंने शादी में मिले उपहार से स्कूल में स्मार्ट क्लास का निर्माण करवाया।

इसका उद्घाटन महापौर वैजयंती देवी खेड़िया और नगर आयुक्त वीरेंद्र प्रसाद ने संयुक्त रूप से किया। श्रवण पिछले शनिवार को ही रुचि मंडल के संग सादगी से परिणय सूत्र में बंधे। विवाह में निकट संबंधियों से उपहार स्वरूप मिले टीवी और 53 हजार रुपए से उन्होंने स्कूल में स्मार्ट क्लास का निर्माण करवाया, जिससे स्कूल के बच्चों को आधुनिक शिक्षा मिले। इतना ही नहीं पर्यावरण के संरक्षण के लिए स्कूल परिसर में पौधरोपण किया गया।

उनका मानना है कि सामाजिक स्तर पर लोगों को सोच बदलने की जरूरत है। सब कुछ सरकार ही नहीं कर सकती। मेयर वैजयंती देवी खेड़िया ने कहा कि श्रवण कुमार जैसे लाेग समाज में बदलाव लाते हैं। नगर आयुक्त वीरेंद्र प्रसाद ने कहा कि जिस उदारता का परिचय श्रवण कुमार ने दिखाया है, महान है। लोग इनसे प्रेरित होकर दूसरे स्कूलों में भी ऐसे कार्य करेंगे तो एक सिलसिला चल पड़ेगा।

श्रवण व रुचि दोनों ने किया है बीटेक

श्रवण कुमार राय ने मूसा साह मध्य विद्यालय से प्रारंभिक शिक्षा, सर्वोदय उच्च विद्यालय से मैट्रिक व सीएम साइंस कॉलेज से प्लस टू की परीक्षा पास की। उन्होंने तमिलनाडु के तंजाबुर स्थित इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ फूड प्रोसेसिंग टेक्नोलॉजी में बी.टेक और राजस्थान के अजमेर सेंट्रल यूनिवर्सिटी से एमबीए की शिक्षा प्राप्त की। वे वर्तमान में गोरखपुर में अडानी ग्रुप में एरिया सेल्स एक्जीक्यूटिव के पद पर कार्यरत हैं।

श्रवण की पत्नी रुचि उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर की रहने वाली हैं। उसने बरेली विश्वविद्यालय से बी.टेक की शिक्षा हासिल की है। रुचि का मानना है कि सबसे पहले शिक्षा पद्धति में बदलाव लाना जरूरी है। प्रधानाध्यापक इंद्रा कुमारी, जूरावन सिंह मवि के मनोज ठाकुर व जूरावन सिंह प्राथमिक विद्यालय के सत्य नारायण प्रसाद ने कार्य को प्रेरणादायक बताया।

^प्राथमिक शिक्षा के दौरान मैंने देखा कि इस सरकारी स्कूल में बुनियादी सुविधाओं की कमी है। उसी वक्त मैंने इस स्कूल के विकास में हरसंभव सहयोग का निर्णय लिया था। उसी सोच के तहत स्मार्ट क्लास की स्थापना की। – श्रवण कुमार राय

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


श्रवण और रुचि दोनों ने ही बीटेक किया है।  

Check Also

शत्रुघ्न सिन्हा ने पटना मेट्रो और अन्य परियोजनाओं के शुभारंभ का किया स्वागत

पटना, 17 फरवरी (भाषा) अभिनेता से नेता बने शत्रुघ्न सिन्हा ने बरौनी में प्रधानमंत्री नरेंद्र …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *