loading...
Hindi News / राज्य / राजस्थान / सातवीं कक्षा के छात्र का स्कूल के निकट मिला शव, ग्रामीणों का शिक्षक पर शक

सातवीं कक्षा के छात्र का स्कूल के निकट मिला शव, ग्रामीणों का शिक्षक पर शक



जैसलमेर. सम गांव में रविवार को 12 साल के एक बच्चे का शव मिलने से सनसनी फैल गई। काजी की बस्ती में नूने खान का एकमात्र बेटा शनिवार को स्कूल तो गया, लेकिन घर नहीं लौटने पर परिजनों में बेचैनी हो गई। घरवालों ने सद्दाम का स्कूल, दोस्तों और जैसलमेर शहर में भी पता किया, लेकिन कहीं भी जानकारी नहीं मिली। उसके बाद रविवार सुबह स्कूल के पीछे सरकारी क्वार्टरों के पास सद्दाम का शव बरामद हुआ। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई।

मौके पर पुलिस अधिकारी पहुंचे व शव को अपने कब्जे में लिया। मौके पर काफी संख्या में लोग इकट्ठे हो गए। मामले को तूल पकड़ता देख एसपी डॉ. किरण कंग भी मौके पर पहुंचीं तथा पुलिस अधिकारियों गहन जांच पड़ताल करने के निर्देश दिए।

पहले की हत्या फिर घसीटकर ले गए क्वार्टर
मौके पर पुलिस की प्रारंभिक जांच में यह लग रहा है कि बच्चे की हत्या कर उसके शव को सरकारी क्वार्टरों के पास फेंका गया है। मौके पर शव को घसीटने के भी निशान मिले है। इससे इस बात का अंदाजा लगाया जा रहा है कि जहां लाश मिली है, वहां हत्या नहीं की गई है। किसी दूसरी जगह से हत्या कर शव को सरकारी क्वार्टरों में फेंक दिया गया है।

अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासे की उम्मीद
सम के ग्रामीण व पुलिस रविवार शाम हुए पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। पुलिस द्वारा पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही उसके अनुरूप जांच करवाने की मंशा लग रही है। इसके साथ ही पुलिस अधीक्षक ने ग्रामीणों ने शांति बनाए रखने की अपील करने के साथ ही इस वारदात का जल्द से जल्द खुलासा करने की बात कही है।

जोधपुर से बुलाई डॉग स्क्वायड की टीम
पुलिस ने बच्चे की मौत का पता लगाने के लिए जोधपुर से डॉग स्क्वायड की टीम बुलाई है। देर शाम डॉग स्क्वायड की टीम भी सम पहुंची तथा जांच शुरू कर दी है। डॉग स्क्वायड की टीम ने सम में जगह-जगह छानबीन की।

मोर्चरी पहुंचे गाजी फकीर
घटना की जानकारी मिलने के बाद में कई लोग इकट्ठा हो गए। इसके साथ ही शव को पोस्टमार्टम के लिए जैसलमेर लाया गया। जहां भी काफी संख्या में लोग इकट्ठे हुए। इस दौरान मुस्लिम धर्मगुरू गाजी फकीर भी मौके पर पहुंचे। घटना की पूरी जानकारी दी। जैसलमेर प्रधान अमरदीन फकीर भी पूरे समय तक मोर्चरी में रहे।

ग्रामीणों का शिक्षकों पर शक, पूछताछ शुरू
ग्रामीणों द्वारा फिलहाल शिक्षकों पर ही शक किया जा रहा है। हालांकि पुलिस यह स्पष्ट नहीं कर रही है लेकिन शक के आधार पर ही स्कूल में कार्यरत सभी शिक्षकों को दस्तयाब कर उनसे पूछताछ की जा रही है। पुलिस द्वारा विभिन्न टीमों का गठन कर अलग अलग एंगल से सभी पहलुओं पर जांच की जा रही है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


सम में घटनास्थल पर एकत्र लोग।

Check Also

सीनियर टीचर प्रतियोगी परीक्षा 2018 की उत्तर कुंजी पर 19 से दे सकेंगे आपत्ति

अजमेर।राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित वरिष्ठ अध्यापक प्रतियोगी परीक्षा 2018 की उत्तर कुंजी पर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *