loading...
Hindi News / राज्य / हरियाणा / उकलाना सीएचसी में सुविधाओं के अभाव में भटक रहे मरीज

उकलाना सीएचसी में सुविधाओं के अभाव में भटक रहे मरीज




एक ओर तो सरकार अस्पतालों में बेहतर सुविधा देने और मुफ्त इलाज का ढिंडोरा पीट रही है वहीं दूसरी और सरकारी अस्पतालों में स्टाफ के अभाव में लोग इलाज के लिए दर-दर भटकने को मजबूर हैं। अगर उकलाना सीएचसी की बात की जाए तो यहां स्टाफ के अभाव के चलते उकलाना शहरी क्षेत्र की करीब 22 हजार की आबादी व आस पड़ोस के करीब दस गांवों के लोगों को इलाज के लिए हिसार या बरवाला के सरकारी अस्पताल में जाना पड़ता है या फिर निजी अस्पतालों में इलाज करवाना पड़ता है। सीएचसी उकलाना में अधिकतर स्वीकृत पद पिछले कई दिनों से खाली होने के कारण मरीज इलाज के लिए भटक रहे हैं। हाल ही में अंबाला मंण्डल आयुक्त दीप्ती उमाशंकर के उकलाना दौरे के दौरान भी इलाके के लोगों ने इस समस्या को प्रमुखता से उठाया था और उन्होंने सीएचसी उकलाना का दौरा कर वहां से सुविधाओं और स्टाफ की कमी का जायजा भी लिया था मगर अभी तक कोई समाधान न होने के कारण आमजन को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है।

मेडिकल के लिए जाना पड़ता है हिसार : सीएचसी में स्टाफ की कमी के कारण आमजन को तो परेशानी उठानी ही पड़ती है साथ ही यहां सभी सुविधाएं होते हुए भी पुलिस को नशेड़ी ड्राइवरों और अन्य मामलों में लोगों की मेडिकल जांच के लिए हिसार ले जाना पड़ता है।

सीएचसी उकलाना।

सीएचसी उकलाना की ये है स्थिति

पद खाली

एसएमओ 1

एमओ 4

रेडियोग्राफर 1

एसटीएस 1

अकाउंटेंड 2

क्लर्क 2

लैब अटेडेंट 1

फार्मासिस्ट 1

स्टाफ नर्स 2

स्टनो 1

डिप्टी सीमओ से बात की गई तो उन्होंने बताया कि वे ऊपरी विभाग को इस बारे में समय-समय पर डिमांड भेज रहे हैं। जब भी स्टाफ उपलब्ध होगा भेज दिया जाएगा।

इसके अंडर चार पीएचसी केंद्र

उकलाना स्थिति सीएचसी केन्द्र के दायरे में चार पीएचसी केन्द्र हैं। मगर सीएचसी में पूरे स्टाफ के अभाव में पीएचसी केन्द्रों की ओर से रेफर किए जाने वाले मरीजों के लिए यहां भी कोई सुविधा न होने के कारण मरीजों को या तो बरवाला या फिर हिसार के लिए रेफर किया जाता है। सीएचसी उकलाना के दायरे में पीएचसी उकलाना, पाबड़ा, हसनगढ़ और दौलतपुर आती हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Uklanamandi News – haryana news poor patients suffering from lack of facilities in chc

Check Also

कुछ अलग हैं ये किसान : साइकिल तक नहीं थी, खेती से कमाई कर गाड़ियों में घूमते हैं

चौथे एग्री लीडरशिप समिट- 2019 में प्रदेशभर से पहुंचे प्रगतिशील किसानों ने अपनी सफलता के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *