loading...
Hindi News / देश दुनिया / राष्ट्रीय / जिलिंगो ने 1605 करोड़ रु की फंडिंग जुटाई, 4 साल में 6900 करोड़ रुपए हुई वैल्यू

जिलिंगो ने 1605 करोड़ रु की फंडिंग जुटाई, 4 साल में 6900 करोड़ रुपए हुई वैल्यू



बेंगलुरु. अंकिति बोस (27) के ऑनलाइन फैशन स्टार्ट-अप जिलिंगो ने दो निवेशकों से 1604.6 करोड़ रुपए (22.6 करोड़ डॉलर) की फंडिंग जुटाई है। कंपनी ने मंगलवार यह जानकारी दी। इस फंडिंग के बाद जिलिंगो की वैल्यू 6,887 करोड़ रुपए (97 करोड़ डॉलर) हो गई है। जिलिंगो दक्षिण-पूर्व एशिया के छोटे कारोबारियों को अपने प्रोडक्ट बेचने के लिए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म उपलब्ध करवाती है। इसका हेडक्वार्टर सिंगापुर में है।

  1. अंकिति उन सबसे कम उम्र की महिला सीईओ में शामिल हो गई हैं जो एशिया में करीब 1 अरब डॉलर की वैल्यू के स्टार्ट-अप को लीड कर रही हैं। इतनी वैल्यू वाले दुनियाभर के 239 स्टार्ट-अप में सिर्फ 23 की फाउंडर महिलाएं हैं। अंकिति पिछले साल फोर्ब्स की अंडर-30 एशिया लिस्ट में शामिल हो चुकी हैं।

    अंकिति।

  2. 4 साल में जिलिंगो 1 अरब डॉलर के वैल्यूएशन के करीब पहुंच गई है। अंकिति ने अप्रैल 2015 में इसकी शुरुआत की थी। उस वक्त वो 24 साल की थीं और स्टार्ट-अप में निवेश से जुड़ी फर्म सिक्योई इंडिया में एनालिस्ट की जॉब करती थीं। जिलिंगो में पहला निवेश सिक्योई ने ही किया था।

    अंकिति।

  3. दिसंबर 2014 में बेंगलुरु में एक घरेलू पार्टी के दौरान अंकिति की मुलाकात ध्रुव कपूर (28) से हुई। ध्रुव उस वक्त गेमिंग कंपनी किवी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर थे। बातचीत में दोनों ने महसूस किया कि दोनों अपना स्टार्ट-अप शुरू करना चाहते हैं।

    जिलिंगो के को-फाउंडर ध्रुव कपूर के साथ अंकिति।

  4. 4 महीने बाद अंकिति और ध्रुव ने नौकरी छोड़ दी और जिलिंगो पर काम शुरू कर दिया। दोनों ने अपनी 30-30 हजार डॉलर की बचत इसमें लगा दी। कपूर जिलिंगो में चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर हैं।

  5. अंकिति के दिमाग में जिलिंगो का आईडिया उस वक्त आया जब वो 2013 में छुट्टियां बिताने थाईलैंड गईं थीं। उन्होंने नोटिस किया कि वहां कोई ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस उपलब्ध नहीं था।

    अंकिति।

  6. जिलिंगो ने सिंगापुर में रेग्युलेटरी फाइलिंग में बताया कि मार्च 2018 को खत्म वित्त वर्ष में कंपनी के रेवेन्यू 12 गुना बढ़ा है। 31 मार्च 2017 को खत्म वित्त वर्ष में जिलिंगो का रेवेन्यू 13 करोड़ रुपए (18 लाख डॉलर) रहा था।

  7. थाईलैंड और कंबोडिया समेत जिलिंगो के आठ देशों में ऑफिस हैं। कंपनी के 400 कर्मचारी हैं। यह इंडोनेशिया, थाईलैंड और फिलीपींस में फैशन से जुड़ी ई-कॉमर्स वेबसाइट चलाती है। जल्द ऑस्ट्रेलिया में भी शुरू करने की योजना है।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      जिलिंगो की फाउंडर और सीईओ अंकिति बोस।

Check Also

प्रधानमंत्री मोदी आज टोंक में चुनावी सभा को संबोधित करेंगे

जयपुर .विधानसभा चुनाव के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को राजस्थान आएंगे। वहटोंक में दोपहर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *