loading...
Hindi News / राज्य / मध्य प्रदेश / तेंदुए का शव मिला, जबड़ा, पंजे व पूंछ गायब; इटारसी से जांच के लिए आज आएगा डॉग स्क्वॉयड

तेंदुए का शव मिला, जबड़ा, पंजे व पूंछ गायब; इटारसी से जांच के लिए आज आएगा डॉग स्क्वॉयड



सेंधवा/बड़वानी. एबी रोड पर शहर से 15 किमी दूर जामन्या के पास उमरियापानी गांव के पहाड़ी क्षेत्र में 1 किमी नीचे तेंदुआ मृत अवस्था में मिला। शव क्षत-विक्षत हो चुका था। जबड़ा, पंजे और पूंछ गायब थे। मंगलवार को वन विभाग का अमला शव को ऊपर लेकर आया। डॉग स्क्वॉड बुलाने के कारण बुधवार को पोस्टमार्टम होगा। इसके बाद मौत का कारण सामने आएगा।

वन विभाग के कर्मचारियों को तेंदुआ मृत अवस्था में पड़े होने की सूचना मिली। मंगलवार सुबह अमला मौके पर पहुंचा। अफसरों का रास्ता देखा। डीएफओ केएस पट्‌टा और एसडीओ सेंधवा पहुंचे। नीचे उतरकर मौके पर पहुंचे। इसके बाद शव को ऊपर लाया गया। शव क्षतविक्षत हो गया था। पंजे, जबड़ा और पूंछ नहीं थी। दुर्गंध आ रही थी। इस दौरान तीन पशुचिकित्सक भी मौजूद रहे। अफसरों के अनुसार मौत 15 दिन पहले हुई होगी। ऐसे में बड़ा सवाल ये है कि यह सामान्य मौत है या किसी ने शिकार किया है। हालांकि हकीकत पोस्टमार्टम के बाद ही सामने आएगी।

5 दिन पहले खरगोन जिले में भी हुआ था तेंदुए का शिकार, काटे थे अंग : खरगोन जिले के केली अंबा में भी 5 दिन पहले एक तेंदुए का शिकार किया था और इसके सिर, पंजे काटकर ले गए थे। इसमें मप्र-महाराष्ट्र सीमा के आठ लोगों पर कार्रवाई हुई थी।

इंदौर का डॉग बीमार, बाहर से बुलाया : सीसीएफ खंडवा ने डॉग स्क्वॉड बुलाकर जांच कराने के निर्देश दिए, ताकि यदि किसी ने मारा हो तो पता चल सके। भोपाल सूचना दी गई। इंदौर का डॉग बीमार होने से इटारसी से डॉग स्क्वॉड बुलवाया है, जो रात को शहर पहुंचा। अब बुधवार सुबह जांच के बाद पीएम होगा।

10 तेंदुए होने का अनुमान : तेंदुए घने जंगल में रहते हैं। अपना-अपना क्षेत्र होता है। वनमंडल में 10 तेंदुए होने का अनुमान बताया जा रहा है। निवाली से लेकर खेतिया क्षेत्र में 3-4 तेंदुए हो सकते हैं। महाराष्ट्र क्षेत्र का तेंदुआ आदमखोर हो गया है। इसके चलते पिंजरे लगाए गए हैं।

तेंदुए की मौत कैसे हुई ये पीएम के बाद ही साफ होगा। डॉग स्क्वॉड की जांच के बाद तीन पशु चिकित्सकों का दल पीएम करेगा। अभी कुछ कह नहीं सकते। हालांकि इतने बड़े जानवर को मारना मुश्किल है। यदि किसी ने मारा होता तो खाल भी निकाल लेते। इससे लगता है कि बीमारी या अन्य कारण से मौत हो सकती है। मौत के बाद जानवर ने खाया होगा या किसी व्यक्ति ने अंग काटे होंगे।

केएस पट्‌टा, डीएफओ सेंधवा

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Leopard body found, jaw, claws and tail disappeared

Check Also

दो नए शॉपिंग और एक स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स बनेगा, महापौर ने पेश किया 1900 करोड़ का बजट

ग्वालियर. महापौर विवेक शेजवलकर शुक्रवार को वित्तीय वर्ष 2019-20 का लगभग 1900 करोड़ रुपए का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *