loading...
Hindi News / स्वास्थ्य चिकित्सा / शरीर से बाहर धड़कता है बच्ची का दिल, जन्मजात बीमारी के कारण 14 महीने तक चला इलाज अब स्वस्थ

शरीर से बाहर धड़कता है बच्ची का दिल, जन्मजात बीमारी के कारण 14 महीने तक चला इलाज अब स्वस्थ



हेल्थ डेस्क. ब्रिटेन में एक ऐसी नवजात बच्ची का जन्म हुआ है जिसका दिल शरीर से बाहर निकला हुआ है। डॉक्टर ने इस जन्मजात बीमारी को एक्टोपिया कॉर्डिस बताया है। ब्रिटिश महिला नाओमी फिंडले की सिजेरियन डिलीवरी नवंबर 2017 में हुई थी। करीब 14 महीने के संघर्ष और इलाज के बाद बच्ची स्वस्थ है। अस्पताल प्रशासन ने पेरेंट्स को घर ले जाने की अनुमति दे दी है। भारत में ऐसा मामला 2009 में आया था। एम्स, दिल्ली के विशेषज्ञों ने 10 दिन के शिशु का सफल ऑपरेशन किया था।

  1. ''

    ब्रिटेन का यह पहला मामला है जब एक बच्चे को जन्मजात एक्टोपिया कॉर्डिस होने के बाद बचाया जा सका है। प्रेग्नेंसी के नौवे महीने में जांच के दौरान नाओमी फिंडले को बच्चे में बीमारी की बात पता चली थी। स्कैनिंग के दौरान बच्ची का हृदय शरीर के बाहर विकसित हो रहा था। ब्रिटेन के ईस्ट मिडलैंड्स कंजेनिटल हार्ट सेंटर में 14 करीब महीनों के दौरान बच्ची की कई सर्जरी हुई हैं।

  2. ''

    इक्टोपिया कॉर्डिस एक जन्मजात बीमारी है, जिसमें हृदय जन्म के समय अपने नियत जगह पर न होकर छाती के बाहर उभर आता है या उसके आसपास के हिस्सों में पाया जाता है। इसके कारणों का अब तक पता नहीं चल सका है। सर्जरी की मदद बच्चे को बचाने की कोशिश की जाती है। हालांकि ज्यादातर मामलों में जन्म के समय ही बच्चे की मौत हो जाती है।

  3. ''

    चिल्ड्रेन इंटेंसिव केयर के कंसल्टेंट पैट्रिक डेवीस के मुताबिक, नाओमी की फैमिली के लिए यह खुशखबरी है। बच्चा 9 माह पहले ही हॉस्पिटल से यहां शिफ्ट हुआ है। यह समय परिवार के लिए बेहद उतार-चढ़ाव वाला रहा है। विशेषज्ञों ने बच्चे को सुरक्षित रखने के लिए एक खास तरह की शील्ड तैयार की थी। इलाज के लिए बड़ी टीम तैयार की गई थी जिसमें फिजियोथैरेपिस्ट, प्ले स्पेशलिस्ट, नर्स और एडमिन टीम ने अहम रोल अदा किया है। बच्ची अब सामान्य जीवन जी सकती है। ट्रीटमेंट के अगले चरण में एक्सपर्ट शरीर को सीने की ओर से सपोर्ट देने की वाली हड्डी को तैयार करने की कोशिश की जा रही है।

  4. बच्ची की मां नाओमी का कहना है कि यह लंबे समय के बाद बच्ची घर आई यह हमारे लिए बेहद यादगार लम्हा है। उसे आम जिंदगी जीना शुरू कर दिया है। बच्ची के पिता वेनेलोप ने दिन-रात देखभाल के लिए 7 लोगों की टीम लगाई है। वेनेलोप का कहना है कि बच्ची का उसके भाई के साथ खास बॉन्ड है।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      Miracle baby born with her heart outside her chest finally able to return home


      Miracle baby born with her heart outside her chest finally able to return home

Check Also

दर्द और दौरों से जूझ रही 31 साल की महिला को खून चूसने वाले कीड़े से हुई थी बीमारी

हेल्थ डेस्क. 31 साल की लौरा मैकलिओड्स गंभीर लाइम डिजीज से जूझ रही हैं। इसका …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *