loading...
Hindi News / राज्य / हरियाणा / सिटी में 20 दिन से अटका स्ट्रीट लाइट का टेंडर

सिटी में 20 दिन से अटका स्ट्रीट लाइट का टेंडर




नगर निगम ने सिटी में स्ट्रीट लाइट्स के टेंडर काल किए। चार टेंडर पहुंचे भी। 20 दिन पहले टेंडर खुले की तिथि थी, लेकिन आज तक टेंडर नहीं खोला गया। जबकि कैंट में जिस ठेकेदार को ठेका दिया गया था। वह चार माह से पेमेंट न मिलने के कारण टेंडर बीच में ही छोड़कर चला गया। हालात यह हैं कि ट्विन सिटी की कई सड़कों व गलियों में अंधेरा पसरा हुआ है।

ट्विन सिटी में स्ट्रीट लाइट्स खराब ठीक न होने को लेकर लोग नगर निगम में शिकायतें दर्ज कराते रहते हैं। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के दरबार में भी कई बार यह मामला पहुंचा। उन्होंने सख्त निर्देश दिए थे कि स्ट्रीट लाइट्स अगर खराब मिली तो अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद कैंट में निगम ने टेंडर के बाद वर्क अलाट किया था, लेकिन निगम के अधिकारी ठेकेदार को पेमेंट नहीं कर पाए। ठेकेदार ने चार माह तक पैसा अपनी जेब से लगाता रहा। जब उसे पेमेंट का रिस्पांस नहीं मिला तो उसने काम बंद करना ही बेहतर समझा। उधर, सिटी में टेंडर आने के बाद उन्हें ओपन न कर वर्क अलाट न करने से भी स्ट्रीट लाइट्स ठीक नहीं हो पा रही है। हैरानी तो इस बात की है कि जिस ठेकेदार का ठेका दो माह के लिए बढ़ाया गया था। उसे कैंट का काम भी सौंप दिया।

घरों के बाहर लाइटें जगाने पर मजबूर हैं लोग।

इस बार चार लाख का टेंडर

सिटी निगम की बात करें तो इस बात का ठेका चार लाख रुपए प्रति माह है, जबकि पिछला ठेका 4.80 लाख में छूटा था, जबकि हुडा के सेक्टरों का अलग से 1.80 लाख का टेंडर दिया गया था। इसके बावजूद निगम अधिकारियों का टेंडर न खोलना हैरानी करने वाली बात है। जबकि स्ट्रीट लाइट्स खराब होने के कारण जनता परेशान हो रही है।

हैरानी <img src="images/p3.png"वारंटी में एलईडी, मरम्मत ठेकेदार से करा रहे

नगर निगम ने सिटी में 3000 हजार एलईडी और 40 एलईडी पोल लगाए हुए हैं। जिस कंपनी को इन्हें लगाने का ठेका दिया गया था। नार्म्स में स्पष्ट था कि वही कंपनी एक साल तक इनकी मेंटेन करेगी, लेकिन हैरानी की बात यह है कि निगम के अधिकारी कंपनी से यह एलईडी ठीक नहीं करा रहे हैं, जबकि यह अभी वारंटी पीरियड में है। इसका जिम्मा भी काम कर हे ठेकेदार को सौंप दिया है। ऐसे में स्ट्रीट लाइट्स के साथ साथ इन्हें ठीक करना ठेकेदार के वश की बात नहीं है।

26500 प्वाइंट

ट्विन सिटी में इस समय नगर निगम के 26500 स्ट्रीट लाइट्स प्वाइंट्स हैं। इसमें एलईडी अलग है। सिटी में 18000 के करीब तथा कैंट में 8500 के करीब स्ट्रीट लाइट्स प्वाइंट हैं। इसके अलावा हुडा में भी लगभग तीन हजार स्ट्रीट लाइट्स हैं। इन सभी को ठीक करने के लिए एक ही ठेकेदार को लगाया गया है, जबकि उसके पास सिटी के हिसाब से ही स्टाफ है। यही कारण है कि स्ट्रीट लाइट्स खराब पड़ी रहती हैं और ठेकेदार के कर्मी इन्हें ठीक नहीं कर पा रहे हैं।

अर्थिंग तक नहीं

नगर निगम के इलेक्ट्रिकल डिपार्टमेंट ने ठेका अलाट करने के बाद पूरी तरह से स्ट्रीट लाइट्स लगाते समय ध्यान नहीं दिया। कहीं पर स्ट्रीट लाइट्स की अर्थिंग ठीक ढंग से नहीं की गई तो कहीं प्वाइंट के जोड़ ही गलत लगा दिए गए। इलेक्ट्रिक विभाग के लाइट इंस्पेक्टर को सब कुछ पता होने के बाद भी वह ठेकेदार से इन्हें ठीक नहीं करा पाया।

<img src="images/p2.png"नगर निगम में फंड की कमी के चलते टेंडर नहीं हो पाया। जल्द ही स्ट्रीट लाइट को लेकर टेंडर खोले जाएंगे। हालांकि जहां पर भी स्ट्रीट लाइट खराब होने की शिकायत आ रही हैं वहां लोगों की शिकायतों का समाधान किया जा रहा है। मीनाक्षी दहिया, कमिश्नर, नगर निगम अम्बाला

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Ambala News – haryana news street light tender for 20 days in the city

Check Also

सुमित हत्याकांड के फरार 2 आरोपी गिरफ्तार

रोहतक | सीआईए 3 की टीम ने सुनारिया चौक के पास हुए सुमित उर्फ नन्हा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *