loading...
Hindi News / राज्य / राजस्थान / जयपुर से आगरा व कोटा का रेल और सड़क मार्ग बंद, शाहपुरा-अजीतगढ़ हाइवे पर जाम

जयपुर से आगरा व कोटा का रेल और सड़क मार्ग बंद, शाहपुरा-अजीतगढ़ हाइवे पर जाम




कार्यालय संवाददाता | शाहपुरा

त्रिवेणीधाम में बुधवार को गुर्जर समाज के लोगों ने आरक्षण की मांग को लेकर बैठक कर शाहपुरा अजीतगढ़ स्टेट हाइवे पर करीब 15 मिनट तक जाम लगाया। इससे वाहनों की कतारें लग गई। बाद में पुलिस प्रशासन ने समझाइश कर मामला शांत करवाया। इससे पहले त्रिवेणी धाम स्थित गुर्जर धर्मशाला में आरक्षण को लेकर महापंचायत हुई जिसमें गुर्जर समाज के कई लोगों बढ़-चढ़कर भाग लिया। जाम से जयपुर से आगरा व कोटा का रेल व सड़क मार्ग बंद रहा। इससे यात्रियों को परेशानी हुई।

राजेश गुर्जर ने कहा कि गुर्जरों को आरक्षण मिलना बहुत जरूरी है। गुर्जर जाति आज भी बहुत ज्यादा पिछड़ी हुई है। गुर्जर महासभा के तहसील अध्यक्ष सूरजमल तंवर ने कहा कि आंदोलन को शांतिपूर्ण तरीके से करना चाहिए। ताकि किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचे। अध्यक्ष भूराराम ने गुर्जर समाज को एकजुट होने का आह्वान किया। रणवीर सेवा समिति के जिलाध्यक्ष विजय चौहान, एसबीसी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष राजेंद्र गुर्जर, महासचिव कैलाश पोसवाल, रामगोपाल रावत, पार्षद रामअवतार गुर्जर, युवा नेता विशाल धेधड़, रामफूल पोसवाल, कृष्ण अल्सर, महेश अल्सर, प्रकाश सुरज्ञान गुर्जर, विक्रम कसाना, ओमप्रकाश भडाणा, रोहिताश भडाणा आदि ने भी एकजुट होकर किरोडीसिंह बैसला का आदेश नहीं मिलने तक शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन जारी रखने का आह्वान किया। इसके बाद पूर्व अजीतगढ़ नायब तहसीलदार भीमसैन सैनी को ज्ञापन सौपा।

जाम से लगी वाहनों की कतार, मुसाफिर रहे परेशान

शाहपुरा | त्रिवेणीधाम में गुर्जर आरक्षण आंदोलन को लेकर स्टेट हाइवे पर सांकेतिक प्रदर्शन करते हुए।

रामपुरा नाले पर दूसरे दिन सड़क पर महिलाएं भी बैठी, राजस्थानी गीत गाए

चाकसू| गुर्जर आरक्षण आंदोलन के तहत रामपुरा नाले पर लगाया जाम बुधवार दूसरे दिन भी जारी रहा। सवेरे आंदोलन में महिलाएं भी शामिल हो गई और सड़क पर बैठकर राजस्थानी गीत गाती नजर आई। सड़क पर पंगत लगाकर लोगों ने खाना खाया तथा मंगलवार रात्रि को सड़क पर अपने बिस्तर बिछाकर रात गुजारी। उधर, जाम के बाद भी एम्बूलेंस, स्कूलों की बसें तथा शादी व बरात के साधनों को रोका नहीं जा रहा।

विराटनगर | साकेंतिक धरना देते गुर्जर समाज के लोग।

विराटनगर एसडीएम कार्यालय के सामने गुर्जरों का सांकेतिक धरना

विराटनगर/मैड़| यहां पालड़ी तिराहे पर गुर्जर समाज के लोगों की बैठक हुई। इसमें आरक्षण आंदोलन को लेकर आगामी रणनीति तय की गई। डालचंद गुर्जर ने कहा कि 15 साल से दोनों दलों की सरकार गुर्जरों के साथ छलावा कर रही है। कांग्रेस ने चुनावी घोषणा पत्र में गुर्जरों को 5 प्रतिशत आरक्षण देने का वायदा किया, जिसे कांग्रेस सरकार को निभाना चाहिए। भीमसहन गुर्जर, गोपाल गुर्जर ने भी विचार व्यक्त किए। इसके बाद समाज के लोग विराटनगर एसडीएम कार्यालय पहुंचे, जहां करीब एक घंटे तक एसडीएम कार्यालय के सामने सांकेतिक धरना दिया। राजेन्द्र गुर्जर, मुरारी सिंधू, शीशराम दायमा, नवरंगपुरा सरपंच रामशरण गुर्जर ने कहा कि आरक्षण हमारा हक है जिसे हम गांधीवादी तरीके से लेकर रहेंगे। एडवाकेट जयराम गुर्जर, सरपंच संघ अध्यक्ष हरिसिंह सिंधू ने कहा कि सरकार को गुर्जर समाज की मांगों पर शीघ्र सकारात्मक कदम उठाना चाहिए। डालचंद, नेपाल सिंह, नवरंगपुरा सरपंच रामशरण गुर्जर, रामसहाय गुर्जर, तालवा श्रवण लाल ने भी विचार व्यक्त किए। इसके बाद गुर्जर समाज के लोगों ने एसडीएम राजवीर यादव को प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। बैठक की सूचना पर पुलिस प्रशासन मुस्तैदी से तैनात रहा।

समाधान नहीं तो मार्ग जाम होगा

तय हुआ कि यदि सरकार दो दिन में सकारात्मक कदम नहीं उठाती है तो गुर्जर समाज 16 फरवरी को अलवर जयपुर मार्ग पर बीलवाडी बसस्टैंड पर जाम करेंगे।

ये भी पढ़िए

हाइवे व रेल रोके बिना सफल हुआ मराठा आरक्षण आंदोलन

आंदोलन में था फौज जैसा अनुशासन

महाराष्ट्र में मराठा आरक्षण आंदोलन बेआवाज था, लेकिन उसकी गूंज पूरे भारत में हुई। दो साल तक मराठा आंदोलन की किसी ने अगुवाई नहीं की थी। लेकिन इसमें महिलाएं, युवा व बुजुर्ग शामिल हुए। इस आंदोलन में अनुशासन फौज की तरह रहा। लोग एकत्र होते, रैली निकालते। बाद में पोस्टर, स्लोगन, कार्टून का इस आंदोलन में इस्तेमाल हुआ। वर्ष 2016 में शुरू होने के बाद 2018 में महाराष्ट्र सरकार ने मराठा समाज को आरक्षण की घोषणा की।

प्रदेश : रचनात्मक आंदोलन ने दिलाई किसानों को कर्ज माफी

सीकर में किसानों ने कई दिनों तक अहिंसक प्रदर्शन किया जिसमें ज़िले के व्यापारी से लेकर दूसरे लोगों ने भी किसानों का साथ दिया। सीकर का आंदोलन कर्ज़ माफी के वादे के साथ ख़त्म हो गया। किसानों ने अहिंसक और रचनात्मक तरीके से अपना विरोध ज़ाहिर किया था। जयपुर में किसानों ने ज़मीन में गड्ढा खोद कर खड़े हुए थे। इस आंदोलन का नाम समाधि सत्याग्रह रखा गया था।

विदेश : वेनेजुएला में सड़कों पर उतरे कई लोग पर रास्ता नहीं रोका

वेनेज़ुएला में कई दिनों से राष्ट्रपति निकोलस मादुरो और विपक्षी नेता ख़ुआन गोइदो के बीच चल रहा सत्ता संघर्ष नए मोड़ पर पहुंच गया है। वेनेज़ुएला की राजधानी कराकस में ख़ुआन गोइदो के समर्थन में बड़ी संख्या में लोग सड़कों पर उतर आए हैं। कईयों के हाथों में ऐसी तख्तियां हैं, जिनमें मादुरो से पद छोड़ने के लिए कहा जा रहा है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Shahpura News – rajasthan news rail from jaipur to agra and kota and closed road jam on shahpura ajitgarh highway


Shahpura News – rajasthan news rail from jaipur to agra and kota and closed road jam on shahpura ajitgarh highway


Shahpura News – rajasthan news rail from jaipur to agra and kota and closed road jam on shahpura ajitgarh highway


Shahpura News – rajasthan news rail from jaipur to agra and kota and closed road jam on shahpura ajitgarh highway


Shahpura News – rajasthan news rail from jaipur to agra and kota and closed road jam on shahpura ajitgarh highway

Check Also

गांव के शहीद बेटे को आखिरी सलाम: शहीद की अंत्येष्टि में उमड़ा सैलाब, 6 घंटे में 20 KM का अंतिम सफर, हाथों में तिरंगा थमाया तो थम गए पिता के आंसू

जयपुर।शहीदों की चिता पर हर बरस लगेंगे मेले, वतन पर मरने वालों का यही बाकी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *