loading...
Hindi News / राज्य / झारखंड / हत्या के आरोप में पति को आजीवन कारावास की सजा

हत्या के आरोप में पति को आजीवन कारावास की सजा




तेनुघाट व्यवहार न्यायालय के जिला जज द्वितीय गुलाम हैदर ने गोमिया थाना अंतर्गत स्वांग वन बी निवासी संतोष गुप्ता को हत्या के आरोप में दोषी पाने के बाद आजीवन कारावास की सजा सुनाई। सूचिका पिंकी गुप्ता ने गोमिया थाना प्रभारी के समक्ष बयान दिया था कि उसकी शादी वर्ष 2001 में संतोष गुप्ता के साथ हुई थी। उसके दो लड़के भी हैं। ससुराल में सूचिका से दहेज की मांग की जाती थी। उसके पति हमेशा उसके साथ मारपीट करते थे। 11 अप्रैल 16 की रात में आरोपी ने पीड़िता के साथ मारपीट की और कहा कि तुम्हें मर जाना चाहिए। घर में रखा हुआ किरोसिन तेल पीड़िता के ऊपर डाल कर जला दिया। पीड़िता के बच्चों के हल्ला करने पर पुलिस वहां आयी और उसे बचा लिया। पीड़िता को जब होश आया तो उसने अपने आप को रांची रिम्स में इलाजरत पाया। बयान के आधार पर गोमिया थाना कांड संख्या 33/16 दर्ज किया गया। इलाज के दौरान पीड़िता की मृत्यु हो गई।

चेक बाउंस होने के मामले में दो साल की सजा सुनाई

तेनुघाट | तेनुघाट व्यवहार न्यायालय के प्रथम श्रेणी न्यायिक पदाधिकारी संजीत कुमार चंद्रा ने चेक बाउंस के दोषी गोमिया थाना अंतर्गत स्वांग वन बी निवासी आशीष नाथ स्वर्णकार को दो साल की सजा सुनाई। गोमिया निवासी दुर्गा चरण प्रसाद ने एक परिवाद पत्र संख्या 970/17 दायर कर बताया था कि उसने अभियुक्त आशीष नाथ स्वर्णकार को दोस्ताना 90 हजार रुपए कर्ज दिया था। जिसके एवज में अभियुक्त ने परिवादी दुर्गाचरण प्रसाद को चेक दिया। मगर जब परिवादी के द्वारा बैंक में चेक जमा किया गया तो बैंक में बाउंस हो गया। इसे लेकर अभियुक्त को परिवादी के द्वारा नोटिस भेजा गया, मगर उसके बाद भी रुपया वापस नहीं किया। तब परिवादी के द्वारा न्यायालय में मुकदमा दायर किया गया। अधिवक्ताओं की बहस सुनने के बाद चंद्रा ने को दो साल की सजा एवं 1 लाख 80 हजार रुपए मुआवजा देने का आदेश दिया।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Check Also

रूफटाॅप सोलर प्लांट लगाएं, बची बिजली सरकार खरीदेगी

रांची.विद्युत नियामक आयोग ने सोलर एनर्जी की बिक्री की दर तय कर दी है। सोलर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *