ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / ऑटो / 5 साल बाद यात्री वाहनों की सालाना बिक्री 50 लाख तक पहुंच जाएगी

5 साल बाद यात्री वाहनों की सालाना बिक्री 50 लाख तक पहुंच जाएगी



ऑटो डेस्क. भारत में यात्री वाहनों की सालाना बिक्री 2023 तक 50 लाख तक पहुंच जाएगी। उद्योग चैंबर एसौचेम और कंसल्टेंसी फर्म रोलां बर्गर की स्टडी रिपोर्ट में यह बात कही गई है। यात्री वाहन में कार, एसयूवी और वैन शामिल किए जाते हैं। यह रिपोर्ट बुधवार को जारी की गई। इसमें कहा गया है कि देश में यात्री वाहनों की बिक्री हर साल औसतन 7.7% बढ़ेगी। पिछले साल घरेलू बाजार में करीब 33 लाख यात्री वाहनों की बिक्री हुई थी।

सबसे ज्यादा ग्रोथ: एसयूवी की बिक्री में सबसे अधिक 12% वृद्धि की उम्मीद

    • 32.8 लाख यात्री वाहन बिके थे 2017-18 में।
    • 12% सालाना बढ़ेगी से एसयूवी की बिक्री।
    • 7.89% रही थी इसमें बढ़ोतरी 2017-18 के दौरान।

    वजह:अमेरिका और चीन जैसी बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की तुलना में भारत में गाड़ियां कम। ग्रोथ की काफी गुंजाइश है।

    • 8.32 लाख गाड़ियां बिकी थीं 2018 में।
    • 5.6% सालाना औसत ग्रोथ की उम्मीद
    • 10 लाख से अधिक होगी बिक्री 2023 में।

    वजह:क्षमता से अधिक माल लादने पर प्रतिबंध लगाया गया है। 2020 से पुराने वाहनों को हटाने की नीति बनाई गई है।

    • 2.8% सालाना बढ़ेगी खेती के लिए ट्रैक्टर की बिक्री।
    • 10% कुल वृद्धि का अनुमान टेकसाई रिसर्च के अनुसार।
    • 7.11 लाख ट्रैक्टर की बिक्री हुई थी 2017-18 के दौरान।

    वजह:फसलों के एमएसपी में बढ़ोतरी। यूपी, पंजाब, महाराष्ट्र और कर्नाटक में किसानों के कर्ज माफ किए गए हैं।

  1. साल यात्री वाहन कॉमर्शियल
    2013-14 6.06% 20.22%
    2014-15 3.90% 2.83%
    2015-16 7.23% 11.51%
    2016-17 9.26% 4.14%
    2017-18 7.89% 19.94%

    (ग्रोथ के आंकड़े सियाम के अनुसार)

    दोपहिया की बिक्री 2017-18 में 14.8% बढ़ी। बीते 5 वर्षों के दौरान इनकी बिक्री में सालाना औसतन 7.9% वृद्धि हुई।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      passenger vehicles yearly growth jumps upto 50 lakh in 5 years say report

Check Also

10 सेकंड में जलकर खाक हो गई इलेक्ट्रिक टू व्हीलर, मालिक ने कूदकर बचाई अपनी जान

ऑटो डेस्क. भारत में इलेक्ट्रिक मोबिलिटी को बढ़ावा देने के लिए काफी जोर शोर से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *