ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / मध्य प्रदेश / 7 सेकंड में जमींदोज हुआ चार मंजिला हॉस्टल, पिलर में विस्फाेटक लगाकर बिल्डिंग को उड़ाया

7 सेकंड में जमींदोज हुआ चार मंजिला हॉस्टल, पिलर में विस्फाेटक लगाकर बिल्डिंग को उड़ाया



इंदौर. कल्प कामधेनु नगर में ग्रीन बेल्ट की जमीन पर अवैध रूप से बनाए गए चार मंजिला होस्टल को निगम ने मंगलवार दोपहर जमींदोज कर दिया।सुबह से निगम दल ने पहले पिलर में बारूद भरा और फिर एक साथ धमाका किया, जिससे मात्र 7 सेकंड में चार मंजिला इमारात धराशायी हो गई। इसके पहलेसोमवार को सात पिलर में तीन किलो बारूद से धमाका कर इमारत को कमजोर किया गया था।

ये भी पढ़ें

Yeh bhi padhein

जिसहाेस्टल को जमींदोज किया गया है, उसेबिल्डर ने एक साल में तैयार कर दिया था। इसके लिए उसने नाले को दो बड़े पाइप डालकर बंद किया। फिर दो हिस्सों में भवन बना दिया था। एक्सप्लोसिव एक्सपर्ट शरद सरवटे ने बताया कि बिल्डिंग के बेसमेंट और ऊपर की दो मंजिलों में दीवारें गिराकर पीर में ड्रिलिंग कर 300 छेद किए गए। सोमवार को बिल्डिंग का स्ट्रक्चर कमजोर करने के लिए सिर्फ बेसमेंट के सात पिलर में 45 छेदों में 3 किलो एक्सप्लोसिव भरकर ब्लास्ट किया गया। इसके बाद मंगलवार को एक साथ सभी पिलरों में विस्फोटक भरकर बिल्डिंग को जमींदोज किया गया।

ह

सात महीने में 15 नोटिस दे चुके थे निगम के अधिकारी
कार्यपालन यंत्री ओपी गोयल व भवन अधिकारी दौलत सिंह गुंडिया ने बताया कि सात महीने में बिल्डर को अवैध निर्माण रोकने के 15 नोटिस दिए जा चुके थे। मामला हाई कोर्ट में भी गया था, लेकिन बिल्डर को राहत नहीं मिली। निगम अफसरों का कहना है कि आसपास ग्रीन बेल्ट पर बने अन्य मकानों पर भी कार्रवाई की जाएगी।

निगम कर्मचारी घायल
कार्रवाई के दौरान एसडीएम सोहन कनाश, निगम उपायुक्त महेंद्र सिंह चौहान मौजूद थे। पहले निगमकर्मियों ने पोकलेन, जेसीबी और हथौड़े चलाकर दो मंजिलों तक दीवारें गिराईं। रिमूवल की कार्रवाई के दौरान एक कर्मचारी यूसुफ खान मलबा गिरने से घायल हो गया। वहीं भवन मालिक हरमिंदर सिंह होरा ने कार्रवाई पर कुछ नहीं कहा। बिल्डिंग इंस्पेक्टर सुरेश चौहान ने बताया कि बिल्डिंग के पास ही अमेरिकन टॉवर कंपनी का मोबाइल टॉवर भी अवैध रूप से खड़ा है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


work of introducing explosive in the four-storey hostel pillar


work of introducing explosive in the four-storey hostel pillar

Check Also

पिता के सपने को अपना बनाया और ठान लिया जज बनके रहूंगी, चौथी बार में मिल गई सफलता

जिले के बड़ौनी कस्बे में रहने वाली कुमारी शिखा चतुर्वेदी ने मप्र सिविल जज परीक्षा-2019 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *