Wednesday , September 18 2019, 8:32 AM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / राज्य / महाराष्ट्र / अमरावती की विकास योजनाओं की समीक्षा के लिए छह सदस्यीय समिति का गठन

अमरावती की विकास योजनाओं की समीक्षा के लिए छह सदस्यीय समिति का गठन

अमरावती, 13 सितंबर (भाषा) अमरावती के आंध्र प्रदेश की राजधानी रहने या नहीं रहने को लेकर बढ़ती अनिश्चितता के बीच वाई एस जगन मोहन रेड्डी सरकार ने शुक्रवार को एक छह सदस्यीय विशेषज्ञ समिति का गठन किया। समिति अमरावती की विकास योजना की समीक्षा करेगी और इसके बहुमुखी विकास की व्यापक रणनीति सुझाएगी। समिति के संयोजक सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी जी नागेश्वर राव होंगे। इसमें योजना तथा वास्तुकला विद्यालय दिल्ली के प्रोफेसर महावीर, शहरी और क्षेत्रीय नियोजक अंजलि मोहन, अहमदाबाद स्थित सीईपीटी से शिवानंद स्वामी, दिल्ली स्कूल ऑफ आर्किटेक्चर के सेवानिवृत्त प्रोफेसर के टी रवींद्रन तथा चेन्नई के सेवानिवृत्त प्रमुख शहरी योजनाकार के वी अरुणाचलम सदस्य के तौर पर शामिल होंगे। नगर प्रशासन और शहरी विकास सचिव जे श्यामल राव ने एक आदेश में कहा, ‘‘विशेषज्ञ समिति अब तक शुरू की गयीं विकास योजनाओं की त्वरित समीक्षा करेगी और राजधानी समेत पूरे राज्य के लिए बहुमुखी विकास की व्यापक रणनीति सुझाएगी।’’ उन्होंने कहा कि समिति में पर्यावरण संबंधी मुद्दों तथा बाढ़ प्रबंधन के विशेषज्ञ भी होंगे। उन्होंने कहा कि वह सरकार को छह सप्ताह के अंदर रिपोर्ट जमा कर देगी। हालांकि आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि प्रमुख रूप से समिति का गठन अमरावती की विकास योजना की समीक्षा के लिए किया गया है जहां वाईएसआर कांग्रेस सरकार ने सभी विकास कार्यों को रोक दिया है। सरकार की कार्रवाई और कुछ मंत्रियों के बयानों से इन अटकलों को बल मिला था कि राजधानी बदली जा सकती है।

Check Also

नासिक में आशा कर्मियों ने कम मानदेय को लेकर प्रदर्शन किया

Share this on WhatsApp नासिक महाराष्ट्र सरकार के ‘आशा’ कार्यक्रम से जुड़ी स्वयंसेवियों ने वादे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *