Tuesday , October 15 2019, 4:21 PM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / राजनीति / अयोध्‍या मुद्दे पर योगी की 'खुशखबरी', अखिलेश ने कहा- सीएम को कैसे पता कोर्ट में क्‍या होने वाला है

अयोध्‍या मुद्दे पर योगी की 'खुशखबरी', अखिलेश ने कहा- सीएम को कैसे पता कोर्ट में क्‍या होने वाला है

लखनऊ
समाजवादी पार्टी (एसपी) के अध्यक्ष ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा कथित रूप से अयोध्या मामले में बहुत जल्द ‘बड़ी खुशखबरी’ मिलने के दावे पर सवाल उठाया है। उन्‍होंने कहा कि मुख्यमंत्री को कैसे मालूम है कि अदालत में क्या होने वाला है?

अखिलेश ने रविवार को यहां आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मुख्यमंत्री योगी अयोध्या मामले में जल्द ही बड़ी खुशखबरी मिलने की बात कर रहे हैं। आखिर उन्हें कैसे पता है कि क्या होने वाला है? उन्होंने कहा, ‘बीजेपी संविधान और देश के कानून पर कम भरोसा करती है। हमने हमेशा यही कहा कि अदालत जो फैसला लेगी उसे पूरा देश मानेगा। सवाल यह है कि एक अखबार को कैसे वो चीजें पता हैं? मुख्यमंत्री को कैसे पता है कि क्या होने वाला है?’ बता दें कि मुख्यमंत्री ने ब्रह्मलीन महंत अवैद्यनाथ महाराज की स्मृति में गोरखपुर के चम्पादेवी पार्क, तारामंडल में आयोजित रामकथा में शनिवार को राम मंदिर मुद्दे की तरफ इशारा करते हुए कहा था कि बहुत जल्द ‘बड़ी खुशखबरी’ मिलने वाली है।

पढ़ें:

‘पाबंदी से डीजे कारोबार चौपट’
अखिलेश ने प्रदेश सरकार पर डीजे बजाने के कारोबार से जुड़े एक करोड़ लोगों को बेरोजगार करने का आरोप लगाते हुए कहा कि कांवड़ यात्रा और अन्य धार्मिक आयोजनों में डीजे पर कोई प्रतिबंध न होने का दावा करने वाली योगी सरकार ने डीजे पर पाबंदी लगा दी है। इलाहाबाद डीजे वेलफेयर असोसिएशन के लोगों ने कल उनसे (अखिलेश से) मुलाकात की थी। वह सरकार की शिकायत करना चाहते हैं। यूपी में इस कारोबार से लगभग एक करोड़ लोग जुड़े हैं। उन्हें सरकार ने बेरोजगार कर दिया है।

‘शिक्षा और कुपोषण में यूपी नंबर वन’
अखिलेश ने कहा कि देश को आजाद कराने वाले लोगों ने संकल्प लिया था कि हम विदेशी चीजों को नहीं अपनाएंगे मगर सरकार तो निजीकरण में ही लगी हुई है। यह तो शुरुआती निजीकरण है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘अभी देखिए क्या-क्या होगा। दलितों को नौकरी और रोजगार के मौकों से दूर कर दिया जाएगा।’ अखिलेश यादव ने महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर आयोजित विधानमंडल के 36 घंटे के अनवरत सत्र पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि सरकार ने इस दौरान सदन में विभिन्न विकास परियोजनाओं को लेकर तमाम झूठ बोले हैं। आज आलम यह है कि नीति आयोग की रैंकिंग के मुताबिक, उत्तर प्रदेश शिक्षा के क्षेत्र में सबसे नीचे और कुपोषण के मामले में नंबर एक पर पहुंच गया है।

Check Also

प्रियंका गांधी की 'पाठशाला', सड़क से संसद लड़ेंगे कांग्रेसी

लखनऊ बीते तीन दशक से उत्तर प्रदेश की सत्ता से बेदखल अब नई टीम और …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *