Saturday , December 14 2019, 10:01 AM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / व्यापार / ऊंचे वैल्यूएशन के बावजूद इंश्योरेंस स्टॉक्स पर फिदा हैं निवेशक, जानें क्यों

ऊंचे वैल्यूएशन के बावजूद इंश्योरेंस स्टॉक्स पर फिदा हैं निवेशक, जानें क्यों

नई दिल्ली में इंश्योरेंस स्टॉक्स की डिमांड बढ़ गई है। पिछले सालभर में इन शेयरों ने निवेशकों को अमीर बनाया है। इनमें से अधिकतर शेयरों ने इक्विटी बेंचमार्क को एक बड़े अंतर से पीछे छोड़ा है। इस उभरते सेक्टर को लेकर उत्साह इतना है कि निवेशक इस बात की भी खास परवाह नहीं कर रहे हैं कि अक्टूबर में अधिकतर जीवन बीमा कंपनियों ने अपेक्षाकृत कम प्रीमियम ग्रोथ दर्ज की। इस कम ग्रोथ की मुख्य वजह त्योहारी छुट्टियां रहीं।

किस, कंपनी का कैसा परफॉर्मेंस?
प्राइवेट बीमा कंपनियों के लिए ऐनुअल प्रीमियम इक्विवैलेंट (APE) अक्टूबर में साल दर साल आधार पर 6.9% बढ़ा। इसमें ICICI प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस और कोटक लाइफ इंश्योरेंस के दमदार प्रदर्शन का बड़ा योगदान रहा।

SBI लाइफ इंश्योरेंस का शेयर इस साल अब तक सबसे ज्यादा 65% चढ़ा है। इसके बाद ICICI प्रूडेंशियल और ICICI लोंबार्ड में क्रमश: 60% और 42% की तेजी आई है।

पिछले कुछ हफ्तों में जोरदार खरीदारी से इनमें से अधिकतर शेयरों के दाम चढ़ गए हैं। SBI लाइफ के लिए 12 महीनों का ट्रेलिंग पीई 80.3 है, वहीं ICICI प्रूडेंशियल और ICICI लोंबार्ड क्रमश: 65.1 और 55.3 पर ट्रेड कर रहे हैं।

इनमें सबसे सस्ता जनरल इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया है जो 30.8 (TTM) के पीई पर ट्रेड कर रहा है। इस सरकारी कंपनी का शेयर इस साल अब तक 5.97% ही चढ़ा है।

पढ़ें:

इस एकमात्र सरकारी कंपनी का नेगेटिव रिटर्न
इस साल अब तक नेगेटिव रिटर्न देने वाला एकमात्र इंश्योरेंस स्टॉक सरकारी कंपनी द न्यू इंडिया एश्योरेंस का है। इसका शेयर 20 प्रतिशत गिरा है। इससे पहले इसमें आई रैली से इसका पीई 107.4 (TTM) तक चला गया था जिसके बाद निवेशकों ने इसे महंगा मानकर इससे किनारा करना शुरू कर दिया।

ऑल टाइम हाई लेवल के आसपास हैं ये शेयर
सभी प्राइवेट अभी उनके ऑल-टाइम हाई प्राइस लेवल से कुछ कदमों की दूरी पर हैं, फिर भी मार्केट के दिग्गज इन पर बुलिश बने हुए हैं। ऐक्सिस कैपिटल में इनवेस्टमेंट बैंकिंग के एमडी श्रीनिवासन सुब्रमण्यन ने कहा कि ग्रोथ की संभावना को देखते हुए मार्केट इंश्योरेंस स्टॉक्स के लिए इतनी ऊंची कीमत चुकाने को तैयार है। उन्होंने कहा, ‘इंश्योरेंस सेक्टर के बारे में मार्केट की राय बहुत पॉजिटिव है।’ उन्होंने कहा, ‘कागज पर देखें तो ये शेयर बहुत ऊंचे वैल्यूएशन पर दिखेंगे, लेकिन इन्हें ग्रोथ के आगामी लंबे रनवे पर देखने की जरूरत है।’

इंश्योरेंस बिजनस का शानदार रहा है प्रदर्शन
पिछले कुछ सालों से इंश्योरेंस बिजनस का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है। प्राइवेट कंपनियां नया बिजनस हासिल करने में दमदार रफ्तार दिखा रही हैं। इंश्योरेंस कंपनियों के फेवर में यह तथ्य भी है कि क्रेडिट क्राइसिस और NPA प्रॉब्लम का उन पर असर नहीं है, जिससे बैंकिंग सेक्टर की उनकी प्रतिद्वंद्वी कंपनियां जूझ रही हैं।

बीमा कंपनियों के पक्ष में ये बातेंएक्साइड लाइफ इंश्योरेंस के सीआईओ श्यामसुंदर भट ने कहा, ‘NBFC या बैंकों से उलट इंश्योरेंस सेक्टर के सामने NPA, लिक्विडिटी या सॉल्वेंसी के मसले नहीं हैं। लगभग सभी बीमा कंपनियों के पास अच्छी पूंजी है और सॉल्वेंसी रेशियो भी सहूलियत वाले लेवल पर हैं। यह उन तमाम वजहों में शामिल है, जिनके कारण निवेशक बीमा सेक्टर की ओर आ रहे हैं।’

भट ने निवेश के बारे में लोगों की बदलती आदतों को भी इसका श्रेय दिया। उन्होंने कहा कि रियल एस्टेट और गोल्ड जैसी फिजिकल ऐसेट्स से लोग फाइनैंशल ऐसेट्स की ओर मुड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसके साथ अधिकतर ऐनालिस्ट भी इंश्योरेंस सेक्टर को कवर करने लगे हैं।

Check Also

सेंसेक्स टुडे: बैंकिंग, आईटी कंपनियों के शेयरों में गिरावट, फिसलकर बंद हुआ शेयर बाजार

मुंबई बैंकिंग तथा आईटी कंपनियों के शेयरों में गिरावट से मंगलवार को शेयर बाजार फिसलकर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *