Wednesday , October 16 2019, 5:26 PM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / देश दुनिया / राष्ट्रीय / एक भाषा बयान पर अमित शाह ने दी सफाई

एक भाषा बयान पर अमित शाह ने दी सफाई

नई दिल्ली
‘एक देश, ‘ के अपने बयान पर सियासी बवाल मचने के बाद केंद्रीय गृह मंत्री ने साफ किया है कि उन्होंने कभी भी दूसरे क्षेत्रीय भाषाओं पर थोपने की बात नहीं की थी। बता दें कि गृह मंत्री ने हिंदी दिवस के अवसर पर ‘एक देश, एक भाषा’ की वकालत की थी। उनके इस बयान के बाद कई विपक्षी दलों के नेता विरोध में उतर आए थे। शाह ने कहा कि उनके बयान पर केवल राजनीति की जा रही है। उधर, शाह के बयान के बाद डीएमके ने तमिलनाडु में उनके बयान के खिलाफ जारी प्रदर्शन स्थगित कर दिया है।

शाह ने आज कहा, ‘मैंने कभी किसी क्षेत्रीय भाषा पर हिंदी थोपने की बात नहीं की थी। मैंने एक मातृभाषा सीखने के बाद दूसरी भाषा के तौर पर हिंदी सीखने का आग्रह किया था। मैं खुद एक गैर हिंदी भाषी राज्य गुजरात से आता हूं। अगर कोई व्यक्ति इसपर राजनीति करना चाहता है तो वह उसकी इच्छा है।’

विपक्षी दलों ने बोला था हमला
गृह मंत्री ने हिंदी दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में , एक भाषा का विचार पेश किया था। इसपर सियासी घमासान मच गया था। AIMIM चीफ , पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री , DMK चीफ समेत कई नेताओं ने इसे क्षेत्रीय भाषाओं पर हिंदी थोपने के इरादे के रूप में लिया और जबर्दस्त विरोध किया। यहां तक कि बीजेपी शासित कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने भी कहा कि वह कर्नाटक में कन्नड़ को ही बढ़ावा देंगे।

डीएमके का प्रदर्शन स्थगित
उधर, शाह की सफाई के बाद डीएमके ने उनके बयान के खिलाफ जारी राज्यव्यापी विरोध स्थगित कर दिया है। डीएमके चीफ एमके स्टालिन ने कहा, ‘हिंदी को थोपने के खिलाफ हमारा राज्यव्यापी प्रदर्शन गृह मंत्री अमित शाह की सफाई के बाद स्थगित कर दिया गया है।’

शाह ने यह बोला था
शाह ने अपने हिंदी दिवस के भाषण में कहा था कि अनेक भाषाएं, अनेक बोलियां कई लोगों को देश के लिए बोझ लगती हैं। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है यह हमारी देश की सबसे बड़ी ताकत हैं। परंतु जरूरत है देश की एक भाषा हो, जिसके कारण विदेशी भाषाओं को जगह न मिले। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमारे पुरखों और स्वतंत्रता सेनानियों ने राजभाषा की कल्पना की थी और राजभाषा के रूप में हिंदी को स्वीकार किया था।’

Check Also

सेना का वॉरगेमिंग डिवेलपमेंट सेंटर होगा महू शिफ्ट

नई दिल्ली के लिए युद्ध लड़ने के नए तरीके, उनकी प्रैक्टिस और उनका अैनालेसिस करने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *