ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / राजनीति / केंद्र सरकार की नीतियों की वजह से कम हुआ प्रदूषण: तिवारी

केंद्र सरकार की नीतियों की वजह से कम हुआ प्रदूषण: तिवारी

नई दिल्लीदिल्ली में प्रदूषण कम होने का श्रेय लेने पर बीजेपी ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा है कि असल में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों की वजह से दिल्ली में प्रदूषण कम हुआ है। बीजेपी का मानना है कि अरविंद केजरीवाल ने खुद का प्रचार करने के अलावा कोई काम नहीं किया और दिल्ली में प्रदूषण को रोकने में उनका कोई योगदान नहीं है। बीजेपी ने केजरीवाल सरकार पर प्रदूषण फैलाने वाली फैक्ट्रियों को संरक्षण देने का आरोप लगाते हुए कहा है कि इसकी वजह से दिल्ली में प्रदूषण अब भी बढ़ रहा है।

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि केंद्र की मोदी सरकार 2014 से ही दिल्ली में प्रदूषण रोकने के लिए काम कर रही है। ईस्टर्न और वेस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे बनने से 60 हजार भारी गाड़ियों का दिल्ली में आना बंद हो गया, जिससे प्रदूषण में भारी कमी आई। अगले साल 1 अप्रैल से बीएस-6 कैटिगरी की गाड़ियां भी दिल्ली में मिलनी शुरू हो जाएंगी, जिससे निजी गाड़ियों की वजह से होने वाले प्रदूषण में 80 प्रतिशत तक की कमी आएगी। केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए सख्त नियमों की वजह से ही प्रदूषण फैलाने वाले उद्योगों और कंस्ट्रक्शन वर्क की वजह से होने वाले प्रदूषण में भारी कमी आई। इलेक्ट्रिक गाड़ियों के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए सब्सिडी देने की व्यवस्था की गई।

केंद्र सरकार ने कोयले से चलने वाले बदरपुर पावर प्लांट को बंद किया और बवाना में गैस आधारित पावर प्लांट शुरू किया, जिसकी वजह से प्रदूषण कम हुआ। तिवारी ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से पूछा है कि दिल्ली में प्रदूषण को रोकने के लिए उन्होंने विज्ञापन देने के अलावा और क्या-क्या काम किया है। उन्होंने कहा कि अकेले सोनिया विहार में दिल्ली सरकार द्वारा चलाई जाने वाली दर्जनों ऐसी फैक्ट्रियां मौजूद हैं, जो प्रदूषण फैला रहीं हैं।

तिवारी ने कहा कि दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने प्रदूषण कम करने के लिए 5000 इलेक्ट्रिक बसें खरीदने की बात कही थी, लेकिन अभी तक केवल 25 बसें आई हैं और वे भी इलेक्ट्रिक बसें नहीं हैं और ना ही डीटीसी की बसें हैं, बल्कि वे प्राइवेट क्लस्टर स्कीम के तहत चलने वाली बसें हैं। केजरीवाल सरकार ने मेट्रो के चौथे चरण के काम को मंजूरी देने में भी अड़ंगा लगाया।

‘आप’ का पलटवार
आप प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने पलटवार करते हुए कहा कि हम मनोज तिवारी की बात से सहमत हैं। दिल्ली का पूरा प्रदूषण कम करने का श्रेय बीजेपी को जाता है। लेकिन नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद और गुड़गांव में बढ़ते प्रदूषण का कारण केजरीवाल ही हैं, क्योंकि वे योगी आदित्यनाथ और मनोहर लाल खट्टर को काम नहीं करने देते। सौरभ ने कहा कि अभी नवंबर में पराली जलाने के कारण दिल्ली का बहुत प्रदूषण बढ़ेगा। दिल्ली गैस चैंबर बन जाएगी। वह दिल्ली के अधिकार क्षेत्र से बाहर है। अगर उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब में पराली जलाना कुछ कम हो सके तो केंद्र सरकार नैतिक रूप से बधाई की पात्र होगी।

Check Also

केजरीवाल का आदेश, अस्पतालों में खत्म हो वीआईपी संस्कृति

Share this on WhatsApp नई दिल्ली दिल्ली के मुख्यमंत्री ने बुधवार को स्वास्थ्य विभाग को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *