Friday , November 22 2019, 3:42 AM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / राज्य / दिल्ली-एनसीआर / कैब ऐप का यह बटन बुलाता है पुलिस…इसलिए हो रहा बेअसर

कैब ऐप का यह बटन बुलाता है पुलिस…इसलिए हो रहा बेअसर

नई दिल्ली
कैब राइड के दौरान अगर कोई आपातकाल स्थिति आती है तो आप कैब बुकिंग ऐप से ही पुलिस को फोन कर सकते हैं…क्या आप इस बात को जानते हैं? अगर नहीं तो कोई बात नहीं, आपके जैसे ऐसे कई लोग हैं जिन्हें यह नहीं पता। इस वजह से कई बार पुलिस जरूरत पर मदद नहीं कर पाती। यह इमर्जेंसी बटन हाल में हुई एक घटना के बाद चर्चा में आया है।

दरअसल, बेंगलुरू में एक महिला के साथ कैब ड्राइवर द्वारा कथित छेड़खानी हुई थी। इस दौरान मदद के लिए महिला ने इमर्जेंसी बटन दबाया लेकिन कैब प्रवाइडर कंपनी ने कॉल महिला को करने की जगह ड्राइवर को कर दी। इसपर सवाल उठा कि जब कॉल परेशानी में होनेवाले शख्स के पास आ ही नहीं रही तो उसका मतलब क्या रहा?

लोग शेयर नहीं करते लोकेशन
इस घटना के बाद दिल्ली पुलिस ने राजधानी में एक ड्राइव चलाकर जाना कि माजरा क्या है। इसमें सबसे पहले चौंकाने वाली जानकारी यह सामने आई कि इमर्जेंसी बटन दबाने पर सबसे पहले सूचना पुलिस को जाती है न कि कैब सर्विस देनेवाले को। लेकिन जबतक उसमें लोकेशन देखने का ऑप्शन इनेबल नहीं होगा पुलिस कुछ नहीं कर सकती।

लोगों को ऐप के बारे में जानकारी तक नहीं
पुलिस को यह भी पता चला है कि ज्यादातर यात्रियों को यह पता तक नहीं है कि ऐप में यह बटन होता कहां है। कुछ पुलिसवाले भी ऐसे मिले जिन्हें पता नहीं था ऐप से कॉल सीधा उन्हें आते हैं। कुछ ड्राइवर भी ऐसा सोचते हैं कि यह कोई नया अपडेट है। हालांकि, यह फीचर 2015 से ऐप्स में मौजूद है। प्रवाइडर्स को 2014 में उबर कैब के अंदर हुए एक रेप के बाद इसे जोड़ने को कहा गया था।

ओला और उबर दोनों भारत में मुख्य कैब सर्विस प्रवाइडर हैं लेकिन दोनों में ही अभी ऐसा कोई अपडेट नहीं है कि लोकेशन पुलिस के साथ खुद शेयर हो जाए। इमर्जेंसी बटन दबाने पर यह जरूर पूछा जाता है कि कॉल कहां कनेक्ट करना है? सर्विस प्रवाइडर को या फिर पुलिस को। ऐप में यह ऑप्शन तो है कि यात्री अपनी लोकेशन जान सके, लेकिन डायरेक्ट उसे पुलिस से शेयर नहीं किया जाता, जिससे पुलिस क्राइम को कई बार रोक नहीं पा रही।

Check Also

400 जगहों से पानी के सैंपल लेकर सीएम को भेजेगी बीजेपी

विशेष संवाददाता, नई दिल्ली दिल्ली में पीने के पानी की गुणवत्ता देश में सबसे खराब …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *