Friday , November 15 2019, 5:17 AM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / क्राइम / जमीन बेचने से मना किया तो मां को मारकर फेंका

जमीन बेचने से मना किया तो मां को मारकर फेंका

बाराबंकी
एक युवक अपनी मां को पैतृक जमीन बेचने के लिए जबरन रजिस्ट्री कार्यालय ले गया। वहां मां ने कागजात पर अंगूठा लगाने से मना कर दिया। इससे नाराज युवक ने उनकी गला दबाकर हत्या कर दी और शव को नहर में फेंक दिया। घर पहुंचकर मां के गुम हो जाने का नाटक किया और थाने पर गुमशुदगी दर्ज करवा दी। पुलिस ने जांच शुरू की तो वारदात के 10वें दिन राजफाश हुआ। पुलिस ने नहर से शव बरामद कर आरोपित बेटे व बहू को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

मोहम्मदपुर खाला थाना के भिखारीपुर के सत्यनाम ने 30 अक्टूबर को पुलिस के पास पहुंचकर तहरीर दी कि उसकी मां प्रेमकुमारी (65) उससे अलग रहती थी। वह 23 अक्टूबर को अचानक घर के पास से गायब हो गई। काफी तलाश कि लेकिन पता नहीं चला। इस पर एसओ मनोज शर्मा ने गांव जाकर लोगों से पूछताछ की। तब मालूम हुआ कि सत्यनाम से प्रेमकुमारी के संबंध काफी खराब थे। सत्यनाम 22 अक्टूबर की सुबह अपनी मां को कहीं पर ले गया था।

यह भी पता चला कि प्रेमकुमारी का बड़ा बेटा अक्षय गोरखपुर में रहकर मजदूरी करता है। अक्षय को बुलाकर पूछताछ की तो उसने अपने ही भाई सत्यनाम पर हत्या करके शव छिपाने का शक जाहिर किया। इस पर पुलिस ने शनिवार सुबह सत्यनाम व उसकी पत्नी शांति देवी को पूछताछ के लिए बुलाया। सख्ती की तो उसने हत्या की बात कबूल कर ली। सत्यनाम ने बताया कि उसकी मां प्रेमकुमारी खेती योग्य पैतृक जमीन की उपज में उसको हिस्सा नहीं देती थी। घर के सामने की जमीन का उसने 23 हजार रुपये में सौदा एक शख्स से कर लिया था। मां इस जमीन को बेचे जाने के पक्ष में नहीं थी। इस पर वह बहाने से उनको 22 अक्टूबर को तहसील ले गया और वहां पर बैनामा पर अंगूठा लगाने का दबाव बनाया। लेकिन मां नहीं मानी और पैदल ही नहर मार्ग से घर के लिए लौट गई।

वह पत्नी शांति देवी के साथ नहर मार्ग से लौटा। रास्ते में हुसैनापुर के पास मां को रोका और उनका गला दबा दिया। इससे उनकी सांसें थम गई तो उनका शव नहर में ही फेंक दिया। इसके बाद वापस आकर मां की तलाश का नाटक रचा। शनिवार शाम एएसपी नॉर्थ आरएस गौतम ने बताया कि सत्यनाम के बयान के बाद नहर में तलाश शुरू की गई। इस पर प्रेमकुमारी का शव बरामद हुआ। बड़े भाई अक्षय कुमार ने भी सत्यनाम व उसकी पत्नी शांतिदेवी के खिलाफ हत्या व शव को छिपाने की धारा में मुकदमा दर्ज करवाया है। एएसपी ने पुलिस टीम को 10 हजार रुपये के नकद पुरस्कार से सम्मानित करने की घोषणा की है।

Check Also

विजिलेंस टीम को रेलवे के 67 ई-टिकट बरामद, दलाल गिरफ्तार

लखनऊ ई-टिकट के काले कारोबार पर लगाम के लिए रविवार को आरपीएफ की विजिलेंस टीम …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *