Tuesday , October 15 2019, 5:40 PM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / राज्य / राजस्थान / देश में भय और अविश्वास का माहौल, गांधी के सिद्धांतों से हो सकता है सुधार: गहलोत

देश में भय और अविश्वास का माहौल, गांधी के सिद्धांतों से हो सकता है सुधार: गहलोत

जयपुर
राजस्थान के भीलवाड़ा जिले में महात्मा गांधी के जीवन पर आधारित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राज्य के सीएम ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के सिद्धान्तों से ही देश में लोकतंत्र कायम है। शनिवार को भीलवाड़ा के राजीव गांधी ऑडिटोरियम में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150वें जयंती वर्ष के मौके पर आयोजित ’सर्वधर्म समभाव संगोष्ठी’ को संबोधित करते हुए गहलोत ने कहा कि महात्मा गांधी के सत्य एवं अहिंसा के सिद्धांत से ही विश्व शांति का मार्ग प्रशस्त हो सकता है। गहलोत ने यह भी कहा कि इस देश में अभी भय और अविश्वास का माहौल है, जिसे गांधी के सिद्धांत पर चलकर सुधारा जा सकता है।

अशोक गहलोत ने अपने संबोधन में कहा कि हमारी सरकार ने गांधीजी की 150वीं जयंती के अवसर पर अनेक कार्यक्रमों को आयोजित करने का निर्णय किया है। गहलोत ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के सिद्धान्तों से ही देश में लोकतंत्र कायम है। उनके द्वारा बताये गये सत्य एवं अहिंसा के सिद्धान्त से ही विश्व शांति का मार्ग प्रशस्त हो सकता है। विश्व के कई देशों के टुकडे़ हो गये हैं लेकिन गांधी के बताये मार्ग पर चलने के कारण ही हमारा देश आज भी अखंड है। उन्होंने कहा कि आज हम गांधीजी के बताये मार्ग से विचलित हो रहे हैं, यह हमारी भूल है। हमें इस पर आत्म-चिंतन करना होगा।

‘गांधी जी की आत्महत्या से हूं प्रभावित’
उन्होंने कहा,’देश में अविश्वास और भय का माहौल है, इसे गांधीजी के जीवन मूल्यों को अपनाकर दूर किया जा सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गांधीजी की आत्मकथा ‘सत्य के साथ मेरे प्रयोग’ से मैं काफी प्रभावित हूं। इस पुस्तक से हमारे व्यवहार एवं जीवन में सकारात्मक परिवर्तन आ सकता है। मुख्यमंत्री ने सूचना व जनसंपर्क विभाग द्वारा राजीव गांधी ऑडिटोरियम में गांधीजी के जीवन दर्शन पर लगाई गई चित्र प्रदर्शनी ‘मोहन से महात्मा’ का अवलोकन किया।

Check Also

सेना को हराकर गुजरात ने लगातार सातवीं जीत दर्ज की

जयपुर, 10 अक्टूबर (भाषा) गुजरात ने विजय हजारे एकदिवसीय ट्राफी ग्रुप सी के मुकाबले में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *