ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / राज्य / हरियाणा / पढ़ाई छोड़ चुके छात्रों के लिए बनाया 'ब्रिज कोर्स'

पढ़ाई छोड़ चुके छात्रों के लिए बनाया 'ब्रिज कोर्स'

गुड़गांव
स्कूल नहीं जाने वाले या पढ़ाई बीच में छोड़ देने वाले बच्चों को के माध्यम से शिक्षा की मुख्यधारा में जोड़ा जाएगा। इस सूची में गुड़गांव से 35 सौ छात्रों के नाम शामिल हैं। शिक्षा विभाग ने ऐसे छात्रों के लिए कदम नामक बुक्स को तैयार किया है। इसके माध्यम से छात्रों को पिछली क्लास और वर्तमान सेशन के कोर्स को कवर करवाने के लिए ब्रिज कोर्स करवाया जाएगा। डिस्ट्रिक्ट प्रॉजेक्ट को-ऑर्डिनेटर इंदू बोकन ने बताया कि गुड़गांव में ऐसे छात्रों की संख्या 35 सौ के करीब है और अब इन छात्रों को सर्दियों की छुट्टियों के बाद स्कूल खुलने के साथ ही बुक्स दे दी जाएंगी। इसके बाद शिक्षकों की जिम्मेदारी होगी कि वह इन ऐक्टिविटी बुक्स के माध्यम से छात्रों को सिलेबस कवर करवाएं।

6 से 14 आयुवर्ग के बच्चों के लिए मौलिक शिक्षा अनिवार्य है। ऐसे में पहली 14 वर्ष की आयु तक के बच्चों को उनकी उम्र के अनुरूप पहली से 8वीं क्लास तक ऐडमिशन दिया जाता है। ऐसे में कई छात्रों को उनकी उम्र के अनुरूप विषय की जानकारी नहीं होती है। बीच में स्कूल छोड़ चुके और बड़ी उम्र तक भी स्कूल न जाने वाले छात्रों को सरकारी स्कूल में ऐडमिशन देकर वर्तमान सेशन और पुरानी क्लासेज का कोर्स करवाया जाता है।

एक ही बुक में सभी विषय
एससीईआरटी में प्रदेश भर के हजारों छात्रों के लिए कदम नाम की बुक तैयार की है। इसकी खासियत है कि एक ही बुक में हिंदी, इंग्लिश, मैथ्स सभी विषय हैं। इसमें ऐक्टिविटी भी शामिल हैं। क्लास के अनुरूप छात्रों को जो मुख्य चीजें आनी चाहिए वह इस बुक में शामिल हैं। ऐसे में शिक्षकों के माध्यम से छात्रों को यह ऐक्टिविटी करवाई जाएंगी।

एनजीओ की ली जाती है मदद
अलग-अलग एनजीओ की मदद से स्कूल छोड़ चुके बच्चों को दोबारा से स्कूलों में एडमिशन दिया जाता है। हर वर्ष बीच सेशन में हजारों छात्रों को स्कूल में ऐडमिशन के साथ-साथ उनकी अच्छी शिक्षा के लिए काम किया जाता है। ऐसे में ब्रिज कोर्स इसमें अहम भूमिका अदा करते हैं।

Check Also

पैदल चलने वालों के लिए सुरक्षित होंगे शहर के चौराहे

Share this on WhatsApp गुड़गांव शहर के मुख्य चौराहों को अब खासतौर से पैदल चलने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *