Friday , November 22 2019, 3:09 AM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / राज्य / जम्मू-कश्मीर / पाकिस्तानी सेना ने आतंकियों की घुसपैठ कराने के लिए बंद पड़े रास्तों का इस्तेमाल किया: अधिकारी

पाकिस्तानी सेना ने आतंकियों की घुसपैठ कराने के लिए बंद पड़े रास्तों का इस्तेमाल किया: अधिकारी

श्रीनगरभारत ने जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म किया तो बौखलाई पाकिस्तानी सेना ने कराने में जुट गई। पाकिस्तान की सेना बंद रास्तों का इस्तेमाल करते हुए अब तक लगभग 60 आतंकवादियों की घुसपैठ कराने की कोशिश कर चुकी है। अधिकारियों ने बताया कि यह आकलन उन खुफिया सूचनाओं के बीच आया है जिनमें कहा गया है कि सीमा पार से उत्तरी कश्मीर के ऊंचाई वाले इलाकों तथा जम्मू क्षेत्र के पुंछ और राजौरी इलाकों से घुसपैठ में वृद्धि हुई है। हालांकि, सीमा पार से आतंकवादियों की घुसपैठ के बारे में सेना की ओर से आधिकारिक रूप से कुछ नहीं कहा गया है।

LoC पर घुसपैठ के अनेक प्रयास
नियंत्रण रेखा से घुसपैठ के सफल और असफल प्रयासों के बारे में जानने के लिए हाल में एक बैठक हुई। इसमें सेना के प्रतिनिधि को कश्मीर क्षेत्र के गुरेज, माछिल और गुलमर्ग सेक्टरों के ऊंचाई वाले इलाकों तथा जम्मू क्षेत्र के पुंछ और राजौरी इलाकों में आतंकी घुसपैठ के संबंध में विभिन्न एजेंसियों द्वारा जुटाए गए सबूत सौंपे गए। जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने पहले कहा था कि नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर घुसपैठ के अनेक प्रयास हुए जिनमें से ज्यादातर को विफल कर दिया गया। उन्होंने इस संभावना से इनकार नहीं किया कि हो सकता है कुछ आतंकी घुसपैठ करने में सफल हो गए हों। उन्होंने कहा कि मामले की जांच की जा रही है।

आतंकवादी के खुलासे से दंग रह गई सेना
गुलमर्ग के ऊंचाई वाले क्षेत्रों को 1990 के दशक के शुरू में मध्य कश्मीर में घुसपैठ के लिए इस्तेमाल किया जाता था। वर्ष 2014 में सेना तब आश्चर्यचकित रह गई थी जब उधमपुर में बीएसएफ के वाहन पर आत्मघाती हमले के प्रयास के बाद पकड़े गए आतंकवादी नवीद ने पूछताछ में बताया कि वे गुलमर्ग के ऊंचाई वाले क्षेत्र में ‘उस्ताद पोस्ट’ से घुसपैठ कर कश्मीर घाटी पहुंचे थे।

इन रास्तों का भी हो रहा इस्तेमाल
अधिकारियों ने कहा कि हालांकि अब लगता है कि घाटी में घुसपैठ के लिए यही रास्ता अपनाया गया है। इनमें से कुछ लोग दक्षिण कश्मीर के बडगाम और पुलवामा के कई हिस्सों में दिखे हैं। उन्होंने कहा कि आतंकवादियों का एक समूह पाखेरपुरा के जरिए अशांत पुलवामा जिला पहुंचने से पहले बाबा रेशी पहुंचा।
अधिकारियों ने बताया कि आतंकवादियों का एक अन्य समूह बडगाम जिला पहुंचा है।

सफल रही कुछ आतंकियों की घुसपैठ
उन्होंने यह भी कहा कि इन आतंकवादियों ने भारी गोलाबारी की आड़ में गुरेज, माछिल और तंगधार सेक्टरों से घुसपैठ की। इस घुसपैठ का अहसास तब हुआ जब सुरक्षा एजेंसियों को गांदरबल क्षेत्र में नए चेहरे दिखाई देने लगे। सुरक्षा एजेंसियों के लिए चिंता की एक और बात यह है कि जम्मू के पुंछ क्षेत्र के जरिए छोटे समूह घुसपैठ करने में सफल हो गए और दक्षिण कश्मीर के शोपियां पहुंच गए। अधिकारियों ने कहा कि शोपियां में प्रवेश के लिए इन्होंने संभवत: हिल काका मार्ग का इस्तेमाल किया।

Check Also

अखनूर में एलओसी के समीप संदिग्ध आईईडी विस्फोट में एक जवान शहीद

जम्मू, 17 नवंबर (भाषा) जम्मू के अखनूर सेक्टर में नियंत्रण रेखा के समीप रविवार को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *