Tuesday , October 15 2019, 5:29 PM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / राजनीति / प्रदूषण पर तू-तू मैं-मैं: केजरीवाल का तंज- पराली का धुआं खत्म करें, मैं सारे काम के क्रेडिट केंद्र को दूंगा

प्रदूषण पर तू-तू मैं-मैं: केजरीवाल का तंज- पराली का धुआं खत्म करें, मैं सारे काम के क्रेडिट केंद्र को दूंगा

नई दिल्ली
राजधानी किसके कारण कम हुआ? इस सवाल पर केंद्र और केजरीवाल सरकार के बीच तीखी बहस छिड़ी हुई है। सोमवार सुबह केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दिल्ली सरकार पर ‘काम करे कोई, टोपी पहने कोई’ का तंज कसा, वहीं अब सीएम का इस पर जवाब आया है। उन्होंने बेहद तीखे अंदाज में कहा कि केंद्र राजधानी में हुए सभी कामों के क्रेडिट ले जाए, उनसे सिर्फ इतनी अपील है कि पंजाब और हरियाणा से आने वाले पराली के धुएं पर लगाम लगाने के लिए वह कदम उठाए।

…तो सारे क्रेडिट बीजेपी को दे दूंगा: केजरीवाल
केजरीवाल ने मीडिया से बातचीत में कहा, ‘प्रदूषण सबके प्रयास से कम होगा, और हुआ है।’ उन्होंने केंद्र द्वारा क्रेडिट लेने पर खीजते हुए कहा, ‘सारा क्रेडिट केंद्र और बीजेपी का है। दिल्ली में जो डेंगू कम हुआ, उनकी देन है। मोहल्ला क्लीनिक उनकी देन और बिजली की दरें उन्होंने ही कम किया है। हम तो उनको सारा क्रेडिट दे दें, लेकिन उनसे अपील है कि हरियाणा और पंजाब से आने वाले धुएं पर वह रोक लगावाएं।’

प्रदूषण पर तू-तू-मैं-मैं
इससे पहले जावड़ेकर ने हवा को साफ बनाने के लिए पिछले कुछ सालों से चल रहे प्रयासों और इनके प्रभाव की सोमवार को जानकारी देते हुए बताया कि विजयादशमी और दीपावली के पहले केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के 47 विशेष दल गठित किए गए हैं।

केजरीवाल के विज्ञापनों पर जावड़ेकर ने कसा तंज
विज्ञापन अभियान के जरिए दिल्ली का वायु प्रदूषण कम करने के केजरीवाल सरकार के दावों के सवाल पर जावड़ेकर ने कहा, ‘तथ्यों से साबित होता है कि किसने क्या किया है। हम, तू-तू मैं-मैं में नहीं पड़ना चाहते क्योंकि किसी की फितरत होती है … काम करे कोई, टोपी पहने कोई। हम इसमें नहीं पड़ना चाहते। हम प्रदूषण से लड़ रहे हैं, मैं इसे आपस में लड़ने का विषय नहीं बनाना चाहता।’

Check Also

प्रियंका गांधी की 'पाठशाला', सड़क से संसद लड़ेंगे कांग्रेसी

लखनऊ बीते तीन दशक से उत्तर प्रदेश की सत्ता से बेदखल अब नई टीम और …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *