Friday , November 22 2019, 12:13 AM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / राज्य / हरियाणा / फरीदाबाद से नोएडा सिर्फ 20 मिनट में पहुंचाएगा एलिवेटेड रोड

फरीदाबाद से नोएडा सिर्फ 20 मिनट में पहुंचाएगा एलिवेटेड रोड

सुनील गौड़, फरीदाबाद
दिल्ली-फरीदाबाद बॉर्डर (सेक्टर-37) से कालिंदी कुंज तक के निर्माण की परियोजना तैयार की जा रही है। यहां से फिर डीएनडी फ्लाईओवर तक एलिवेटेड रोड बनाने की महत्वाकांक्षी योजना है। इस परियोजना पर एनएचएआई बड़ी तेजी से काम कर रहा है और एलिवेटेड रोड के बनने से लोगों को जाम से मुक्ति मिल जाएगी और लोग 20 मिनट में पहुंच जाएंगे।

मौजूदा वक्त में फरीदाबाद से नोएडा जाने के लिए लोग हाइवे या आगरा नहर के साथ वाली सड़क का इस्तेमाल करते हैं। जहां हाइवे पर अब भी लोगों को जाम से जूझना पड़ता है वहीं आगरा नहर के साथ वाली सड़क पर गाड़ियों का बोझ बढ़ता जा रहा है। चूंकि ग्रेटर फरीदाबाद बसने के बाद काफी लोग दिल्ली व नोएडा जाते हैं। 2 लेन की सड़क होने के कारण ट्रैफिक बाधित होने से लोगों को परेशानियां बढ़ती जा रही हैं। ऐसे में मीठापुर पुल और कालिंदी कुंज के जाम से तो लोगों का हाल बेहाल हो जाता है। यही वजह है कि एनएचएआई ने लोगों की सहूलियत के लिए दिल्ली-फरीदाबाद बॉर्डर से कालिंदी कुंज तक एलिवेटेड रोड और यहां से डीएनडी फ्लाइओवर तक एलिवेटेड रोड बनाने की योजना है। इस परियोजना के पूरे होने पर लोगों को जाम से छुटकारा मिल जाएगा। अधिकारियों को उम्मीद है कि यह योजना डेढ़ से दो साल में पूरी हो जाएगी।

अभी लगता है 50 मिनट
आगरा नहर के साथ वाली सड़क से कालिंदी कुंज जाने पहुंचने में आधे घंटे का समय लग जाता है। वहीं सुबह व शाम व्यस्त समय में 50 मिनट तक का समय लगता है। अगर पल्ला पुल और मीठापुर पुल के चौक पर जाम मिल जाए तो 1 घंटे का समय लग जाता है, लेकिन एलिवेटेड रोड बनने से 20 मिनट का समय लगेगा।

कहां बनता है एलिवेटेड रोड
एलिवेटेड रोड का निर्माण उन जगहों पर होता है, जहां ट्रैफिक ज्यादा रहता है। एलिवेटड रोड तकनीकी रूप से एक पुल की तरह होता है। जहां घनी आबादी की वजह से जमीन का अधिग्रहण करना मुश्किल होता है, ऐसे इलाके में एलिवेटेड रोड निर्माण को प्राथमिकता दी जाती है।

इस परियोजना पर तेजी से काम किया जा रहा है। एनएचएआई के हेड क्वॉर्टर लेवल पर इस संदर्भ में अधिकारियों की मीटिंग भी हो चुकी है। इसका डिजाइन तैयार किया जा रहा है। जहां एलिवेटेड रोड बनाया जाएगा, वहां कवर्ड एरिया है। इस परियोजना का बजट अभी तैयार नहीं हुआ है।
-धीरज कुमार, तकनीकी प्रबंधक, एनएचएआई

Check Also

दुष्यंत ने केन्द्र को लिखा पत्र: जलवायु परिवर्तन को स्कूल पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाया जाये

चंडीगढ़, 16 नवम्बर (भाषा) हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने केन्द्र सरकार को पत्र लिखकर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *