ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / देश दुनिया / राष्ट्रीय / बागी विधायकों ने विश्वास मत के खिलाफ वोट किया तो उनकी सदस्यता रद्द हो जाएगी: शिवकुमार

बागी विधायकों ने विश्वास मत के खिलाफ वोट किया तो उनकी सदस्यता रद्द हो जाएगी: शिवकुमार



बेंगलुरु.कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकारबागी कांग्रेस विधायक एमटीबी नागराज को मनाने में विफल होती दिख रही है। शनिवार को कांग्रेस नेता सिद्धारमैया और डीके शिवकुमार से मुलाकात के बाद नागराज रविवार को एक भाजपा नेता के साथविशेष विमान से मुंबई पहुंच गए। सूत्रों का कहना है कि वे विधायक के. सुधाकर राव को वापस लौटने के लिए मनाएंगे।सुधाकर समेत अन्य बागी विधायक मुंबई के रेनेसां होटल में डेरा डाले हैं।

दूसरी ओर, कांग्रेस ने सोमवार को बेंगलुरु में विधानमंडल की बैठक बुलाई है। मंत्री शिवकुमार ने कहा कि हमें भरोसा है कि विधायक पार्टी में लौट आएंगे। नियम साफ है कि अगर उन्होंने विश्वास मत के खिलाफ वोट किया तो सदस्यता रद्द हो जाएगी।

कुमारस्वामी ने बहुमत साबित करने के लिए वक्त मांगा

मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने शुक्रवार को विधानसभा में स्पीकर रमेश कुमार से बहुमत साबित करने के लिए वक्त मांगा था। इस पर स्पीकर ने भरोसा दिलाया था कि वे जिस दिन कहेंगे, उन्हें इसके लिए वक्त दिया जाएगा। इस पर येदियुरप्पा ने कहा कि भाजपाकुमारस्वामी के विश्वास साबित करने के लिए वक्त मांगने के फैसले का स्वागत करती है। कर्नाटक की जनता को मौजूदा गठबंधन सरकार के भ्रष्टाचार से घृणा थी। यही वजह थी कि दोनों पार्टियों के विधायक इस्तीफा दे रहे हैं। कई और असंतुष्ट विधायक पार्टी छोड़ने के लिए तैयार हैं। कुमारस्वामी ने विश्वास साबित करने के लिए वक्त मांगा और हमें इसमें कोई आपत्ति नहीं है। कुमारस्वामी को सोमवार को खुद ही विश्वास मत साबित करना चाहिए।

कांग्रेस-जेडीएससरकार का गिरना तय: भाजपा

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने शनिवार को कहा था कि भाजपा सोमवार को कुमारस्वामी सरकार पर विश्वासमत साबित करने के लिए दबाव डालेगी। उन्होंने शनिवार कोविश्वास जताया था कि कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार सदन में बहुमत साबित नहीं कर पाएगी। कांग्रेस-जेडीएससरकार का गिरना तय है। राज्य के 16 बागी विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। उधर, मौजूदा स्थिति से निपटने के लिए मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ भी कर्नाटक पहुंचे थे।

5 और विधायक स्पीकर के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे

इससे पहलेकर्नाटक में इस्तीफा देने वाले 5 और बागी विधायकों ने शनिवार को सुप्रीम कोर्ट में विधानसभा स्पीकर के खिलाफ याचिका दायर की। उनका कहना है कि स्पीकर रमेश कुमार जानबूझकरइस्तीफे स्वीकार नहीं कर रहे हैं।इसी मामले में 10 विधायक पहले ही शीर्ष अदालत मेंअर्जी लगा चुके हैं। सुप्रीम कोर्ट ने स्पीकर को 16 जुलाई तक यथास्थिति बनाए रखने का आदेश दिया है। इस पर मंगलवार को अगली सुनवाई होगी।

यथास्थिति में विश्वासमत साबित करने पर क्या होगा?

पहली:16 बागी विधायक सरकार के खिलाफ वोटिंग करें। इस स्थिति में सरकार के पक्ष में 100 वोट पड़ेंगे। ये संख्या बहुमत के लिए जरूरी 112 के आंकड़े से कम है। ऐसे में कुमारस्वामी सरकार सदन में विश्वासमत खो देगी। सरकार के खिलाफ वोट करने पर बागियों की सदस्यता खत्म हो जाएगी।

दूसरी:बागी विधायक सदन से अनुपस्थित रहें। इस स्थिति में विश्वासमत के समय सदन में सदस्य संख्या 207 रह जाएगी। बहुमत के लिए जरूरी आंकड़ा 104 का हो जाएगा। लेकिन, बागियों की अनुपस्थिति में सरकार के पक्ष में केवल 100 वोट पड़ेंगे और सरकार गिर जाएगी।

तीसरी:बागियों के इस्तीफे मंजूर हो जाएं। इस स्थिति में भी सरकार को बहुमत के लिए 104 विधायकों की जरूरत होगी, जो उसके पास नहीं होंगे। सरकार गिर जाएगी।

चौथी:अगर विधानसभा अध्यक्ष बागियों को अयोग्य ठहरा देते हैं तो भी सदन में विश्वासमत के वक्त सरकार को बहुमत के लिए 104 का आंकड़ा चाहिए। यह उसके पास नहीं होगा। ऐसे में भी सरकार गिर जाएगी।

 Karnataka Political Crisis

कांग्रेस के 13 और जेडीएस के 3 विधायकों ने दिया इस्तीफा
उमेश कामतल्ली, बीसी पाटिल, रमेश जारकिहोली, शिवाराम हेब्बर, एच विश्वनाथ, गोपालैया, बी बस्वराज, नारायण गौड़ा, मुनिरत्ना, एसटी सोमाशेखरा, प्रताप गौड़ा पाटिल, मुनिरत्ना और आनंद सिंह इस्तीफा सौंप चुके हैं। वहीं, कांग्रेस के निलंबित विधायक रोशन बेग ने भी मंगलवार को इस्तीफा दे दिया। बुधवार को के सुधाकर, एमटीबी नागराज ने इस्तीफा दिया।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार।

Check Also

पीवी सिंधु इंडोनेशिया ओपन के फाइनल में, चीन की फेई को 21-19, 21-10 से हराया

खेल डेस्क. बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु इंडोनेशिया ओपन के फाइनल में पहुंच गई हैं। वर्ल्ड …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *