ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / व्यापार / बाजार में पंचम सुर लगा रहे 5 धाकड़ शेयर

बाजार में पंचम सुर लगा रहे 5 धाकड़ शेयर

घरेलू शेयर बाजार में बिकवाली के चलते आई हालिया गिरावट से इनवेस्टर्स के ऐसे पोर्टफोलियो में सेंध लगी है जिनमें ज्यादातर शेयर मिड और स्मॉल कैप थे। 5 जुलाई को पेश हुए यूनियन बजट के बाद से बेंचमार्क इंडेक्स सेंसेक्स 6% तक टूट चुका है जबकि बीएसई 500 के लगभग 400 शेयरों में गिरावट आई है। हालांकि कुछ शेयर गिरावट के ट्रेंड को धता बता रहे हैं। इनमें ज्यादातर लाइफ इंश्योरेंस, एसेट मैनेजमेंट, फार्मास्युटिकल्स, पेंट्स और आईटी सेक्टर के हैं। ईटी ने कम से कम पांच एनालिस्टों के कवरेज वाले ऐसे पांच शेयरों की पड़ताल की है जिन्होंने बाजार में बने कमजोरी के माहौल में तेजी दिखाई है।

(सनम मीरचंदानी)

HDFC एसेट मैनेजमेंट

CMP: ‌~₹2,610.85

इस साल का रिटर्न: 72.92%

5 जुलाई से रिटर्न: 32.19%

एनालिस्टों का कहना है कि NBFC और बैंक बैलेंसशीट से जुड़ा रिस्क झेल रहे हैं, इसलिए इनवेस्टर्स AMC और लाइफ इंश्योरेंस कंपनियों को इनवेस्टर्स तरजीह दे रहे हैं। एंटीक स्टॉक ब्रोकिंग के एवीपी-रिसर्च दिगंत हरिया ने कहा, ‘लोग इन्हें ज्यादा सुरक्षित विकल्प मान रहे हैं। SIP फ्लो में कमी नहीं आई है जो AMC के लिए पॉजिटिव है।’ HDFC AMC का नेट प्रॉफिट जून तिमाही में सालाना आधार पर 42% बढ़कर ₹292 करोड़ रुपये हो गया। HSBC ने हाल ही में HDFC AMC का टारगेट प्राइस लगभग 63% बढ़ाकर ₹2,280 रुपये कर दिया है। सेविंग्स के म्यूचुअल फंड्स की तरफ शिफ्ट होने से AMC को फायदा होता देख उसने कंपनी के शेयरों की रेटिंग अपग्रेड करके बाय भी कर दी है। मॉर्गन स्टैनली ने पिछले हफ्ते यह कहते हुए शेयर को डाउनग्रेड करके ‘इक्वलवेट’ किया था कि शेयर में इस साल अब तक इतनी उछाल आ चुकी है कि इसमें बढ़ोतरी की गुंजाइश सीमित हो गई है।

एवेन्यू सुपरमार्ट्स

CMP : ₹1,529.8

इस साल का रिटर्न: -4.8%

5 जुलाई से रिटर्न: 12.75%

एवेन्यू सुपरमार्ट्स रिटेल सेगमेंट की कंपनी है और इस पर बाजार में आई गिरावट का बहुत कम असर हुआ है। यह बात HDFC सिक्योरिटीज के रिटेल रिसर्च हेड दीपक जासानी ने कही है। प्रमोटर राधाकिशन दमानी ने मिनिमम शेयरहोल्डिंग नॉर्म्स के चलते अगस्त में कंपनी के 40 लाख शेयर बेचे हैं, जिसके चलते शेयरों में कुछ समय के लिए कमजोरी आई लेकिन अंतत: उबर गया। जासानी कहते हैं, ‘रिटेल स्पेस की यह कंपनी लो कॉस्ट हाई वॉल्यूम मॉडल पर कारोबार कर करती है। यह ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों सेगमेंट में है। शेयर महंगा है, लेकिन कुछ इनवेस्टर्स मार्केट की मौजूदा हालत को देखते हुए इसे सेफ हेवेन मानते हैं।’

अपोलो हॉस्पिटल्स एंटरप्राइजेज

CMP : ₹1,496.30

इस साल का रिटर्न: 18.9%

5 जुलाई से रिटर्न: 14.5%

हॉस्पिटल चेन ने पहली तिमाही के ठोस नतीजों के चलते 5 जुलाई के बाद से बाजार को आउटपरफॉर्म किया है। कंपनी को 49 करोड़ रुपये का कंसॉलिडेटेड नेट प्रॉफिट हुआ था जो साल भर पहले ₹23 करोड़ रुपये था। अपोलो हॉस्पिटल्स हेल्थकेयर सेक्टर में इडलवाइज के टॉप पिक में शामिल है जिसके लिए ब्रोकरेज फर्म ने 1700 रुपये का टारगेट तय किया है। ब्रोकरेज फर्म के मुताबिक, कंपनी हेल्दी प्रॉफिट ग्रोथ हासिल करने की दिशा में बढ़ रही है, इस धारणा को जून तिमाही के नतीजों ने बल दिया है। इडलवाइज के मुताबिक, ‘कंपनी का कैपिटल एक्सपेंडिचर साइकिल कंपलीट हो गया है और इसके लॉस में चल रहे वेंचर्स ब्रेकईवेन में आ गए हैं, इसलिए अब कंपनी अपना EBITDA मार्जिन बढ़ाने और RoCE को अगले तीन साल में मिड टीन अवस्था में ले जाने में सक्षम नजर आ रही है।’

इंफोसिस

CMP : ₹840.15

इस साल का रिटर्न: 27.3%

5 जुलाई से रिटर्न: 17%

जून तिमाही के नतीजे उम्मीद से बेहतर रहने और डॉलर के मुकाबले रुपये में गिरावट आने से स्टॉक को आउटपरफॉर्म करने में मदद मिली है। यह बात IIFL के रिसर्च हेड अभिमन्यु सोफट कहते हैं। जून क्वॉर्टर में कंपनी का प्रॉफिट मार्च क्वॉर्टर के मुकाबले 6.8% गिरा था लेकिन उसने पूरे साल की कॉन्स्टैंट करेंसी गाइडेंस पहले के 7.5-9.5% से बढ़ाकर 8.5-10% कर दी थी। कंपनी का शेयर इस साल अब तक 27.3% चढ़ चुका है जबकि इस दौरान BSE IT इंडेक्स में 15.4% की मजबूती आई है। सोफट का मानना है कि इंफोसिस के शेयरों का दाम अगले एक साल में 12% चढ़ सकता है लेकिन वैल्यूएशन के लिहाज से उनका पसंदीदा IT शेयर टेक महिंद्रा का है। सोफट के हिसाब से टेक महिंद्रा का शेयर अगले एक साल में 22% का रिटर्न दे सकता है।

रिलायंस निपॉन लाइफ एसेट मैनेजमेंट

CMP : ₹282.9

इस साल का रिटर्न: 77.7%

5 जुलाई से रिटर्न: 27.12%

AMC और इंश्योरेंस कंपनियों को कामकाजी मोर्चे पर स्लोडाउन के नेगेटिव असर का सामना नहीं करना पड़ा है। मैक्वेरी के फाइनेंशियल सर्विसेज रिसर्च हेड सुरेश गणपति कहते हैं कि कंपनियां बेहतर प्रॉफिट हासिल करती रही हैं। एनालिस्टों का मानना है कि इसका फायदा रिलायंस निपॉन को भी मिला है। एनालिस्टों के मुताबिक, एक साल आगे के अनुमानित ईपीएस के मुकाबले शेयर में 21-22 गुना पर ट्रेड हो रहा है। एनालिस्टों का कहना है कि इस हिसाब से इसका वैल्यूएशन HDFC AMC से कम है लेकिन आनेवाले समय में डिस्काउंट गैप घट सकता है। कंपनी में निपॉन लाइफ इंश्योरेंस का स्टेक ओपन ऑफर बंद होने के बाद बढ़कर 54% हो गया है।

Check Also

सेंसेक्स टुडे: हरे निशान पर खुला शेयर बाजार, शुरुआती कारोबार में उतार-चढ़ाव जारी

Share this on WhatsApp मुंबई सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन चढ़कर खुला। बीएसई 71 अंक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *