Saturday , November 23 2019, 2:21 AM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / राज्य / दिल्ली-एनसीआर / बुजुर्ग के लुक में ही क्यों जाते अमेरिका? हुआ खुलासा

बुजुर्ग के लुक में ही क्यों जाते अमेरिका? हुआ खुलासा

नई दिल्ली
81 साल का बूढ़ा बनकर अमेरिका जाने की कोशिश करते पकड़े गए 32 साल के जयेश पटेल के मामले में नया खुलासा हुआ है। पता चला है कि बुजुर्गों को वीजा देने की अमेरिकी एंबेसी की प्रक्रिया का फायदा उठाते हुए इस खेल को अंजाम दिया गया था। इस गोरखधंधे का मास्टरमाइंड दलाल सिद्धू अभी पुलिस की गिरफ्त से दूर है।

एक अधिकारी ने बताया कि अमेरिकी एंबेसी आमतौर पर 80 साल से ज्यादा उम्र के बुजुर्गों का सम्मान करते हुए उन्हें टूरिस्ट वीजा देने के लिए ऑफिस नहीं बुलाती। एंबेसी यह मानकर चलती है कि ये लोग अपने परिवार से मिलने और घूमने-फिरने के लिए अमेरिका जाते हैं, ऐसे में वीजा के लिए उनका आवेदन करना ही काफी होता है।


सिद्धू का गैंग इसी का फायदा उठाता था। वहीं, पता चला है कि जयेश बूढ़ा बनकर अमेरिका जाने की कोशिश इसलिए कर रहा था क्योंकि उसे अपने असली नाम के ब्लैकलिस्ट होने का खतरा था। उसका आवेदन पहले कई बार रिजेक्ट हो चुका था।

10 से ज्यादा लोग बूढ़े बनकर जा चुके अमेरिका!
आशंका है कि जयेश की तरह ही आईजीआई एयरपोर्ट से दो-तीन महीनों के अंदर 10-15 जवानों को बूढ़ा बनाकर अमेरिका भेज दिया गया है। इनमें तीन से पांच महिलाएं भी हो सकती हैं। जयेश जैसे युवाओं को बूढ़ा बनाने वाले मेकअप आर्टिस्ट शमशेर सिंह ने पुलिस को बताया है कि वह करीब 10 लोगों को इसी तरह जवान से बूढ़ा बना चुका था। इनमें दो लड़कियां भी थीं।

इन सभी का मेकअप ऐसे किया गया था कि वह डेढ़ से दो महीने तक बूढ़े वाले गेटअप में ही रहे और नहाने पर भी मेकअप नहीं हटे। मेकअप को परमानेंट बनाने के लिए खास तरह के कलर इस्तेमाल किए जाते थे। वह एक मेकअप के 20 हजार रुपये तक लेता था।

Check Also

400 जगहों से पानी के सैंपल लेकर सीएम को भेजेगी बीजेपी

विशेष संवाददाता, नई दिल्ली दिल्ली में पीने के पानी की गुणवत्ता देश में सबसे खराब …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *