Wednesday , September 18 2019, 8:18 AM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / राज्य / छत्तीसगढ़ / मंतुराम पवार भाजपा से निष्कासित

मंतुराम पवार भाजपा से निष्कासित

रायपुर, 10 सितंबर (भाषा) छत्तीसगढ़ के मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी ने वर्ष 2014 में हुए अंतागढ़ उपचुनाव में कांग्रेस के प्रत्याशी रहे मंतुराम पवार को पार्टी से निष्कासित कर दिया है। पवार वर्ष 2015 से भाजपा में थे। पवार ने पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और पूर्व मंत्री राजेश मूणत पर तीन दिन पहले आरोप लगाया था कि उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी और उनके बेटे अमित जोगी के साथ मिलकर उपचुनाव को प्रभावित किया था। छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने मंगलवार को यहां बताया कि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने के कारण मंतूराम पवार को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित कर दिया है। अंतागढ़ उपचुनाव के प्रत्याशी रहे पवार ने इस महीने की सात तारीख को स्थानीय अदालत में बयान दर्ज कराया था और इस दौरान शपथ पत्र देकर रमन सिंह, अजीत जोगी, अमित जोगी तथा राजेश मूणत पर षड़यंत्र करने का गंभीर आरोप लगाया था। आदिवासी नेता मंतुराम पवार ने आरोप लगाया था कि रमन सिंह, अजीत जोगी, उनके बेटे अमित जोगी और मूणत ने सात करोड़ रूपए की पेशकश कर उनसे अंतागढ़ उपचुनाव से नाम वापस कराया था। पवार ने पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर अपने और परिवार की सुरक्षा की मांग की है। मंतुराम के इस आरोप के बाद पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने इसे राजनीतिक षड़यंत्र का हिस्सा बताया है। राज्य में वर्ष 2013 में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान अंतागढ़ विधानसभा सीट में भाजपा के विक्रम उसेंडी विजयी हुए थे। बाद में वर्ष 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में वह कांकेर लोकसभा सीट के लिए चुन लिए गए थे। जब अंतागढ़ विधानसभा सीट के लिए उप चुनाव हुआ तब मतदान से पहले कांग्रेस प्रत्याशी मंतुराम पवार ने अपना नाम वापस ले लिया था। इस चुनाव में भाजपा प्रत्याशी भोजराज नाग की जीत हुई थी। वर्ष 2015-16 में अंतागढ़ उप चुनाव को लेकर एक आडियो टेप जारी हुआ था, जिसमें इस चुनाव के दौरान कथित रूप से पैसे के लेनदेन का मामला सामने आया था। टेप राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी, उनके बेटे अमित जोगी और पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के दामाद पुनीत गुप्ता के मध्य कथित रूप से हुई बातचीत को लेकर था। इस टेप के सामने आने के बाद उस समय के मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने अंतागढ़ उपचुनाव के दौरान पैसे के लेनदेन का आरोप लगाया था। हालंकि जोगी और रमन सिंह ने इस मामले में शामिल होने से इंकार किया था। बाद में कांग्रेस ने अमित जोगी को पार्टी से बर्खास्त कर दिया था, जिसके बाद अजीत जोगी ने राज्य में नई राजनीति पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ :जे: का गठन किया था। मंतुराम पवार वर्ष 2015 में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए थे। राज्य में वर्ष 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत के बाद राज्य सरकार ने इस मामले की जांच के लिए एक दल का गठन किया है।

Check Also

नक्सल विरोधी अभियान, तीन नक्सली ढेर

Share this on WhatsApp रायपुर, 14 सितंबर (भाषा) छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *