Wednesday , October 16 2019, 6:08 PM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / राज्य / जम्मू-कश्मीर / राज्यपाल सत्यपाल मलिक का बयान,'…ऐसे पीओके में एक साल में उपद्रव हो जाएगा'

राज्यपाल सत्यपाल मलिक का बयान,'…ऐसे पीओके में एक साल में उपद्रव हो जाएगा'

श्रीनगर
जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल ने पीओके को लेकर देश भर में जारी बयानबाजी के बीच बुधवार को एक बड़ा बयान दिया। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि अगर हम जम्मू-कश्मीर में बच्चों के भविष्य की रक्षा कर सकें, यहां इतनी बिजली ला सकें कि हमारी चमक पाक अधिकृत कश्मीर तक पहुंचे तो मैं यह गारंटी दे सकता हूं कि साल भर में पीओके में उपद्रव हो जाएगा और आपको बिना लड़ाई पीओके मिल जाएगा।

राज्य में एक कार्यक्रम के दौरान अपने संबोधन में मलिक ने कहा, ‘बीते 15 दिन से हमारे बहुत सारे मंत्री जिन्हें कई बार अंतरराष्ट्रीय मामलों पर बोलने का मौका नहीं मिलता, वो बराबर पीओके पर चढ़ाई किए हुए हैं। हम पीओके ले लेंगे, पीओके पर चढ़ाई कर देंगे, नेक्स्ट टार्गेट पीओके है..चलो वो उनका सोचना है। लेकिन मैं कह रहा हूं कि अगर नेक्स्ट टार्गेट पीओके है तो लड़ाई के बजाय जम्मू-कश्मीर की तरक्की के आधार पर हम उसे ले सकते हैं।’

‘तो साल भर में पीओके में उपद्रव हो जाएगा’
राज्यपाल मलिक ने आगे कहा, ‘अगर हम जम्मू-कश्मीर के लोगों को इज्जत दे सकें और उन्हें पूरे देश में सबसे अच्छा नागरिक बनाकर दिखा सकें। यहां के बच्चों के भविष्य की रक्षा कर सकें, कारोबार ला सकें और इतनी बिजली ला सकें कि यहां इतनी बिजली ला सकें कि हमारी चमक पीओके तक दिख सके तों मैं गारंटी देता हूं कि साल भर में पीओके में उपद्रव हो जाएगा एवं आपको बिना लड़ाई पीओके मिल जाएगा। मेरा जो पीओके का नक्शा है, वो है जम्मू-कश्मीर की तरक्की।’

कहा- किसी चुनी सरकार से ज्यादा काम किया
बता दें कि हाल ही में सत्यपाल मलिक ने कहा था कि एक ऐसा दिन आएगा कि पीओके के लोग खुद यह कहेंगे कि उन्हें जम्मू-कश्मीर का हिस्सा बनना है। इसके अलावा सत्यपाल मलिक ने यह भी कहा था कि एक साल में उन्होंने जितना काम किया है, संभवत: जम्मू-कश्मीर में किसी चुनी हुई सरकार ने भी इतना काम नहीं किया होगा।

Check Also

कश्मीर में सामान्य जन जीवन अस्त-व्यस्त

श्रीनगर, 11 अक्टूबर (भाषा) कश्मीर में सामान्य जन जीवन शुक्रवार को लगातार 68 वें दिन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *