Friday , November 22 2019, 1:13 AM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / राज्य / दिल्ली-एनसीआर / लाल सेब बनाने के लिए बागों से ही वैक्स लगाने का खेल

लाल सेब बनाने के लिए बागों से ही वैक्स लगाने का खेल

शम्स आलम, नई दिल्ली
केंद्रीय खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान को जब वैक्स लगा सेब मिला तो मामला गरमा गया। मंत्री के आदेश के बाद आनन-फानन में उपभोक्ता मंत्रालय की टीम ने खान मार्केट की उस फल की दुकान पर छापा मारा जहां से सेब खरीदे गए थे। दुकानदार का कहना था कि उसने अमेरिकन सेब आजादपुर मंडी से लिया था। शिकायत आने के बाद उसने तुरंत दुकान से फल हटा दिया था।

बेचने की बात व्यापारियों ने भी मानी
इस खबर के आने के बाद हमारे सहयोगी अखबार एनबीटी टीम ने आजादपुर फल मंडी जाकर फलों पर वैक्स लगाने के पीछे का सच जानने की कोशिश की तो कई खुलासे हुए। फल व्यापारियों ने कबूला कि आजादपुर फल मंडी में वैक्स लगे हुए सेब तो बिकते हैं, लेकिन इन फलों पर वैक्स और स्प्रे लगाने का खेल दिल्ली की मंडियों में नहीं होता है, बल्कि सारा खेल सेब के बागों से ही चल रहा है।

पेड़ों में लगे सेब पर वैक्स का काम हो रहा है
पेड़ों में ही लगे सेब पर वैक्स या स्प्रे के जरिए इस काम को अंजाम दिया जा रहा है। 15 दिनों में सेब का रंग लाल हो जाता है। जिसे दिल्ली ही नहीं अन्य राज्यों में भी लोग ताजा समझकर खरीदते हैं। इसके बदले मोटी रकम भी अदा करते हैं। फल व्यापारियों की माने तो वैक्स सेहत के लिए हानिकारक है। ये खतरनाक केमिकल से बनते हैं, वहीं कई वैक्स सेहत के लिए हानिकारक नहीं होते हैं। लेकिन ज्यादातर जगहों पर केमिकल वाले वैक्स का ही इस्तेमाल होता है। जो सेहत के लिए हानिकारक है।

सेब में कलर के लिए केमिकल का करते हैं प्रयोग
दिल्ली एग्रिकल्चरल मार्केटिंग बोर्ड के सूत्रों के मुताबिक बताया कि शिमला, कुल्लू-मनाली, किन्नौर के अलावा कश्मीर में पेड़ों में लगे फल लोगों की मांग के मुताबिक लाल नहीं होते हैं, यानि इसका रंग हरा होता है। फल तोड़ने से 15 दिन पहले सेब में कलर लाने के लिए बगीचे के मालिक केमिकलयुक्त स्प्रे करते हैं। धीरे-धीरे ये कलर सेब के अंदर तक चला जाता है। जिससे सेब का रंग लाल हो जाता है। कलर सूखने के बाद सेब के ऊपर परत जम जाती है, जो प्लास्टिक की तरह हो जाती है। देखने में काफी चमकीला और लाल होता है। धोने से भी आसानी से साफ नहीं होता। ये सेब धोते समय हाथों से फिसलता है। चाकू से खुरचने पर ये निकल जाता है।

Check Also

400 जगहों से पानी के सैंपल लेकर सीएम को भेजेगी बीजेपी

विशेष संवाददाता, नई दिल्ली दिल्ली में पीने के पानी की गुणवत्ता देश में सबसे खराब …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *