Monday , December 9 2019, 6:14 AM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / व्यापार / शादी से पहले अपने पार्टनर से जरूर करें पैसों से जुड़ी ये बातें

शादी से पहले अपने पार्टनर से जरूर करें पैसों से जुड़ी ये बातें

आदिल शेट्टी
पैसा एक अत्यंत संवेदनशील मुद्दा बन सकता है, खासतौर पर उन दो लोगों के बीच जो बाकी की जिंदगी एक साथ बिताना चाहते हैं। लेकिन, यह एक ऐसा विषय है जिस पर खुलकर बातचीत करने की जरूरत है क्योंकि अपने पार्टनर के साथ फाइनैंस के बारे में खुलकर बातचीत करने से आपके रिश्ते को स्वस्थ और संतुलित बनाए रखने में काफी मदद मिल सकती है।

इसकी शुरुआत कैसे करनी चाहिए
यह बात सच है कि कई लोग अपने फाइनैंशल डिटेल्स शेयर करने में असहज महसूस करते हैं, खासतौर पर तब जब बात उनकी इनकम, सेविंग, इत्यादि से जुड़ी हो। लेकिन, कम से कम यह पता लगाने के लिए महत्वपूर्ण फाइनैंशल मामलों पर कुछ चर्चा करना जरूरी है कि दोनों लोगों के जीवन से संबंधित लक्ष्यों के साथ-साथ फाइनैंशल लक्ष्य भी एक जैसे हैं या नहीं।

पढ़ें-

इसके लिए सबसे अच्छा शायद यही होगा कि धीरे-धीरे एक ऐसा आरामदायक माहौल तैयार करने की कोशिश करनी चाहिए जिसमें पैसों से जुड़ी बातें करने में अजीब न लगे। शुरू-शुरू में कुछ इधर-उधर की बातचीत करना ठीक रहेगा जैसे आपके पार्टनर के फेवरिट क्या हैं, उसके पसंदीदा निवेश क्या हैं, इंश्योरेंस, इत्यादि के बारे में उसके क्या विचार हैं।

शादी से पहले महत्वपूर्ण फाइनैंशल बातें
चूंकि आप अपनी बाकी की जिंदगी अपने पार्टनर के साथ बिताने जा रहे हैं, और किसी दिन आप एक साथ मिलकर एक परिवार शुरू करने की योजना भी बनाएंगे इसलिए भविष्य में परेशानियों से बचने के लिए जल्द से जल्द अपनी-अपनी फाइनैंशल जिम्मेदारियां तय कर लेना जरूरी है। यहां कुछ महत्वपूर्ण बातें बताई गई हैं जिन पर आपको शादी से पहले ही अपने पार्टनर के साथ बात करने के बारे में विचार करना चाहिए-

पढ़ें-

कैश मैनेजमेंट: खर्च और बचत के बारे में अपने पार्टनर के विचारों के बारे में जानना बेहद जरूरी है। आपको एक धीमे-मधुर स्वर में बातचीत शुरू करनी चाहिए और अपने पार्टनर को सही या गलत ठहराने की कोशिश नहीं करनी चाहिए। इस विषय पर एक दूसरे को अपने-अपने विचारों और अनुभवों के बारे में बताने और कैश मैनेजमेंट के बारे में एक दूसरे के आचरणों की पहचान करने से, आप दोनों को अपने फाइनैंस पर बेहतर नियंत्रण प्राप्त करने में मदद मिल सकती है।

खर्च करने की आदतें: खर्च करने से जुड़ी कुछ ऐसी आदतें भी होती हैं जिनके बारे में शादीशुदा जोड़े अपने जीवनसाथी के साथ खुलकर बात नहीं करते हैं। उदाहरण के लिए, जोश में आकर खरीदारी करना या बार-बार रेस्तरां में जाकर खाना खाना। अपने पार्टनर की खर्च करने की आदतों के बारे में थोड़ी-बहुत जानकारी हासिल कर लेने से उनकी आदतों को जल्द से जल्द ठीक करने में मदद मिल सकती है जिससे अंत में एक बेहतर फाइनैंशल फ्यूचर बनाने में योगदान मिल सकता है।

पढ़ें-

आमदनी और खर्च: अपनी दुलहन या दूल्हे के साथ अपनी फाइनैंशल परिस्थिति के बारे में बात करना जरूरी है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है कि कौन ज्यादा कमाता है, जब तक कि आप दोनों को एक दूसरे की आमदनी और खर्च के बारे में पता नहीं चल जाता है। आपका पार्टनर कितना कमाता है और उसका कितना हिस्सा, खर्च के लिए इस्तेमाल किया जाएगा, इस बात की जानकारी होने से आपको एक शादीशुदा जोड़ा होने के नाते अपने कम समय और लम्बी समय सीमा वाले लक्ष्यों को बेहतर तरीके से पूरा करने में मदद मिलेगी।

इच्छा सूची: यदि आपने या आपकी पत्नी ने दुनिया की सैर करने, प्रॉपर्टी खरीदने, बच्चे पैदा करने, इत्यादि के बारे में सोच रखा है तो शादी से पहले आपस में इस पर खुलकर बात करना जरूरी है। एक दूसरे की इच्छाओं के बारे में पता होने से आपको इस बात का पता लगाने में आसानी होगी कि भविष्य में आपको इन इच्छाओं को पूरा करने में कितना खर्च आएगा और आपको अपने फाइनैंस को उसी हिसाब से प्लान करने के लिए काफी समय मिलेगा।

पढ़ें-

लागत का विभाजन: यदि आप और आपकी संभावित पत्नी दोनों नौकरी करते हैं तो आपको यह तय करना होगा कि घर का खर्च कैसे पूरा किया जाएगा। इसके लिए कई बातों को ध्यान में रखना जरूरी है जैसे मकान का किराया, यूटिलिटी बिल, होम अप्लायंस, घरेलू खर्च, इत्यादि। आपको पहले से ही यह तय करके रखना पड़ेगा कि आप दोनों अपने इनकम के आधार पर समानुपातिक तरीके से ये खर्च उठाएंगे या कोई दूसरा तरीका इस्तेमाल करेंगे।

विचारों में अंतर: अपने पार्टनर के साथ उपरोक्त में से कुछ विषयों पर बात करने के बाद, आपको पता चल जाएगा कि पैसे के बारे में आपके पार्टनर की क्या राय है। आप अपने आप समझ जाएंगे कि आप दोनों के विचारों में कोई अंतर है या नहीं। इससे आपको एक ऐसा तरीका ढूंढने में मदद मिलेगा जो आप दोनों के लिए सबसे ज्यादा कारगर साबित हो सके।

पढ़ें-

अपने पार्टनर के साथ पैसों के बारे में बातचीत शुरू करना बहुत मुश्किल लग सकता है, लेकिन आप दोनों के फ्यूचर पर इसके महत्व से इनकार नहीं किया जा सकता। कई शादीशुदा जोड़ों के रिश्तों में शादी के बाद जो परेशानियां उठ खड़ी होती हैं उनमें से अधिकांश परेशानियों की वजह यही होती है कि वे अपने फाइनैंस से संबंधित महत्वपूर्ण बातों पर ध्यान नहीं देते हैं। पैसे को आपके रिश्ते को बर्बाद करने की वजह बनने न दें; शादी से पहले ही इससे जुड़े विषयों पर बात कर लें ताकि आप और आपका पार्टनर अपनी शादीशुदा जिंदगी को एक साथ मिलकर बड़े आराम से गुजार सके।
(इसके लेखक BankBazaar.com के CEO हैं)

Check Also

शेयर बाजार में उछाल, सेंसेक्स 279 अंक चढ़ा

मुंबई शेयर बाजार सोमवार को उछाल के साथ खुला। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *