ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / देश दुनिया / अंतररास्ट्रीय / हमारे मामले में न करे हस्तक्षेप US: हॉन्ग कॉन्ग

हमारे मामले में न करे हस्तक्षेप US: हॉन्ग कॉन्ग

हॉन्ग कॉन्ग
हॉन्ग कॉन्ग की नेता ने मंगलवार को अमेरिका को चेतावनी दी कि वह शहर के लोकतंत्र समर्थक आंदोलन पर उनकी सरकार की प्रतिक्रिया में हस्तक्षेप नहीं करे। हॉन्ग कॉन्ग में पिछले 14 सप्ताह के दौरान हजारों लोगों ने प्रदर्शन किया है। यह प्रदर्शन हॉन्ग कॉन्ग में चीन के शासन के लिए सबसे बड़ी चुनौती के तौर पर उभरा है। प्रदर्शनकारी रविवार को फिर से सड़कों पर उतरे और अमेरिकी वाणिज्य दूतावास की ओर मार्च किया और कांग्रेस से आह्वान किया कि वह लोकतंत्र समर्थक आंदोलन के प्रति समर्थन जताते हुए एक विधेयक पारित करे।

प्रस्तावित कानून हॉन्ग कॉन्ग के विशेष अमेरिकी व्यापार विशेषाधिकार को कमजोर करेगा क्योंकि इसके तहत इसकी नियमित जांच करना अनिवार्य बनेगा कि प्राधिकारी उस मूल कानून का सम्मान कर रहे हैं या नहीं जो शहर के अर्द्ध स्वायत्त दर्जे को मजबूत बनाता है। यद्यपि हॉन्ग कॉन्ग की चीन समर्थक मुख्य कार्यकारी कैरी लैम ने कहा कि अमेरिका के साथ उसके आर्थिक संबंध में कोई भी बदलाव परस्पर लाभों को खतरे में डालेगा। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘किसी भी देश के लिए हॉन्ग कॉन्ग के आंतरिक मामले में हस्तक्षेप करना अत्यंत अनुचित है।’

उन्होंने कहा, ‘मैं उम्मीद करती हूं कि हॉन्ग कॉन्ग में अब लोग अमेरिका से कानून पारित करने के लिए नहीं कहेंगे।’ चीन ने मंगलवार को लैम की टिप्पणी दोहरायी। चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा, ‘हम उम्मीद करते हैं कि वे हांगकांग में हस्तक्षेप को जल्द समाप्त करेंगे।’ अमेरिका में दोनों पक्षों के नेताओं ने प्रदर्शनकारियों के लोकतांत्रिक लक्ष्यों का समर्थन किया है।

अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप प्रशासन ने चीन के साथ व्यापार युद्ध के बीच इससे दूर रहने की नीति अपनाई है। ट्रंप ने इस राजनीतिक संकट के शांतिपूर्ण समाधान का आह्वान किया है और पेइचिंग से हिंसक दमन से स्थिति को नहीं भड़काने का आग्रह किया है। यद्यपि उन्होंने यह भी कहा है कि प्रदर्शनों से निपटना चीन पर है।

Check Also

9/11: सऊदी के अधिकारी का नाम बताएगा US

Share this on WhatsApp वॉशिंगटन अमेरिका का न्याय विभाग के उस अधिकारी के नाम का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *