Friday , December 6 2019, 8:57 AM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / देश दुनिया / राष्ट्रीय / हेगड़े के बयान पर बीजेपी का शीर्ष नेतृत्व नाराज

हेगड़े के बयान पर बीजेपी का शीर्ष नेतृत्व नाराज

नई दिल्ली
देवेंद्र फडणवीस के सीएम बनने के पीछे की वजह को लेकर किए गए दावे से बीजेपी उत्तर कर्नाटक से अपने सांसद के नाराज है। उन्होंने दावा किया था कि फडणवीस को बहुमत नहीं होने के बावजूद इसलिए महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनाया गया था जिससे 40 हजार करोड़ रुपये की केंद्रीय निधि के दुरुपयोग को रोका जा सके। महाराष्ट्र में सत्तासीन उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली बीजेपी पर पहले से ही हमलावर है, वहीं हेगड़े के बयान ने उन्हें बीजेपी को घेरने का एक और मौका दे दिया। महाविकास अघाड़ी में शामिल एनसीपी ने तो पीएम मोदी का इस्तीफा तक मांग डाला।

बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने सोमवार को कहा कि पार्टी की नाखुशी से हेगड़े को अवगत करा दिया जाएगा । पार्टी के वरिष्ठ नेता ने यह भी कहा कि हेगड़े की टिप्पणी अनावश्यक थी और उन्हें नेतृत्व की नाखुशी से अवगत करा दिया जाएगा।

यह कहा था हेगड़े ने
अनंत कुमार हेगड़े ने कहा था, ‘आप सभी जानते हैं कि महाराष्ट्र में हमारा आदमी 80 घंटे के लिए मुख्यमंत्री बना। फिर फडणवीस ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा भी दे दिया। उन्होंने यह ड्रामा क्यों किया? क्या हम यह नहीं जानते थे कि हमारे पास बहुमत नहीं था और फिर भी वह सीएम बने। हर कोई यह सवाल पूछ रहा है। वहां मुख्यमंत्री के नियंत्रण में केंद्र के 40 हजार करोड़ रुपये थे। वह जानते थे कि यदि कांग्रेस-एनसीपी और शिवसेना की सरकार सत्ता में आ जाती है तो वे विकास के बजाए रकम का दुरुपयोग करेंगे। इस वजह से यह पूरा ड्रामा किया गया। फडणवीस मुख्यमंत्री बने और 15 घंटे में केंद्र को 40 हजार करोड़ रुपये वापस कर दिए गए।’

फडणवीस को देनी पड़ी सफाई
हेगड़े की टिप्पणी पर फडणवीस को तत्काल जवाब देना पड़ा। उन्होंने हेगड़े के दावों को पूरी तरह गलत बताते हुए कहा कि ऐसा कुछ नहीं हुआ। उन्होंने सोमवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘ ‘महाराष्ट्र से एक भी पैसा केंद्र को ट्रांसफर नहीं किया गया है। इसके लिए केंद्र से सवाल करने का कोई प्रश्न नहीं उठता है। किसानों को मदद देने के अलावा और कोई भी नीतिगत फैसला नहीं लिया गया था।’

नाइंसाफी बर्दाश्त नहींः NCP
एनसीपी ने इस पूरे मसले पर कहा कि अगर अनंत हेगड़े का यह दावा सही है कि तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस्तीफा देना चाहिए। पार्टी नेता नवाब मलिक ने पत्रकारों से कहा, ‘यह न सिर्फ महाराष्ट्र बल्कि अन्य राज्यों के साथ भी अन्याय है। तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और केरल की जनता इस तरह की नाइंसाफी को बर्दाश्त नहीं करेगी।’

महाराष्ट्र के साथ गद्दारीः शिवसेना
हेगड़े के दावे पर शिवसेना की भी प्रतिक्रिया आई और उसने कहा कि अगर फडणवीस ने ऐसा कुछ किया है तो वह महाराष्ट्र के साथ गद्दारी है। शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने ट्वीट किया, ‘BJP सांसद अनंत कुमार हेगड़े ने कहा है कि 80 घंटे के लिए मुख्यमंत्री बनकर देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र के 40,000 करोड़ रुपये को केंद्र को दे दिया? यह महाराष्ट्र के साथ गद्दारी है।’

Check Also

इंडियन आर्मी को मिला इजरायली 'टैंक किलर'

भोपाल भारतीय थल सेना ने इजरायल निर्मित टैंक रोधी ‘स्पाइक’ मिसाइलों का मध्य प्रदेश के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *