Wednesday , October 16 2019, 5:04 PM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / शिक्षा / 2 बार फेल होने पर भी छात्रों को दाखिला

2 बार फेल होने पर भी छात्रों को दाखिला

नई दिल्ली
नौवीं और दसवीं क्लास में फेल छात्रों को अगली क्लास में जाने से रोका नहीं जा सकता है। दिल्ली हाई कोर्ट ने इस मामले में फैसला सुनाते हुए कहा कि नौवीं से 12वीं तक दो बार फेल होने वाले छात्रों को हम अगली क्लास में जाने से रोक नहीं सकते हैं। दिल्ली सरकार ने एक इस संबंध में एक सर्कुलर जारी किया था और ऐसे छात्रों को अगली क्लास में जाने पर पाबंदी लगा दी थी। फिलहाल दिल्ली हाई कोर्ट ने दिल्ली सरकार के इस सर्कुलर पर स्टे लगा दिया है।

जस्टिस राजीव शकधर ने डायरेक्टोरेट ऑफ एजुकेशन (डीओई) के सर्कुलर पर फैसला सुनाया। उन्होंने कहा कि प्रथम दृष्टया यह एक छात्र के शिक्षा के अधिकार का उल्लंघन करता है। हाई कोर्ट ने दिल्ली सरकार को दो भाइयों को भी दाखिला देने का आदेश दिया है। दोनों भाई नौवीं क्लास में फेल हो गए थे जिसके बाद उनको दाखिला नहीं दिया गया था। उन्होंने इसको हाई कोर्ट में चुनौती दी थी। हाई कोर्ट ने अपने फैसले में कहा, ‘इस मामले पर ‘गहराई से गौर’ करने की जरूरत है क्योंकि यह सर्कुलर छात्रों की सतत शिक्षा के रास्ते में बाधा है।’

हाई कोर्ट का फैसला एक पिता की याचिका पर दाखिल की गई है। उन्होंने ऐडवोकेट अशोक अग्रवाल के माध्यम से डीओई के सर्कुलर के खिलाफ याचिका दाखिल की थी। डीओई ने 27 अगस्त, 2018 को सर्कुलर जारी किया था। डीओई के इस सर्कुलर के आदेश पर बड़ी संख्या में छात्रों को दाखिला देने से इनकार कर दिया गया था।

याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका में सर्कुलर के बारे में कहा, ‘सर्कुलर की वजह से नौवीं से 12वीं क्लास तक में फेल होने वाले सैकड़ों छात्रों को दोबारा दाखिला नहीं दिया गया है जो अवैध और मनमाना है और इसलिए सर्कुलर के क्रियान्वयन पर फिलहाल रोक लगाई जाती है।’

Check Also

UP Board Exam 2020: यूपी बोर्ड ने बदला प्रैक्टिकल परीक्षा का पैटर्न, पढ़ें पूरी डीटेल

UP Board Exam Pattern 2020: उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने 2020 में होने वाली …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *