Friday , November 15 2019, 5:18 AM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / राज्य / महाराष्ट्र / 40 साल बाद मराठवाड़ा में दिखा बाघ, तय की 200 किमी की दूरी

40 साल बाद मराठवाड़ा में दिखा बाघ, तय की 200 किमी की दूरी

औरंगाबाद/नागपुर
इलाके में करीब 40 साल बाद एक बाघ को देखा गया है। राज्य के वन विभाग ने इस बात की पुष्टि की है कि एक युवा बाघ को हिंगोली जिले में देखा गया है। माना जा रहा है कि वह करीब 200 किमी की दूरी 5 महीने में तय करके यहां पहुंचा है जिस रास्ते में खेत और पैनगंगा नदी भी आती है। बाघ का नाम सी1 है और यह 3 साल का है। यह यवतमाल जिले के पंधारकवड़ा की टीपेश्वर वाइल्डलाइफ सैंक्चुअरी से आया है।

रेकॉर्ड्स की मानें तो यह अभी तक किसी बाघ का तय की पांचवीं सबसे लंबी दूरी है। अभी भी सी1 का सफर जारी है। इसलिए ऐसा माना जा रहा है कि वह इस मायने में नया रेकॉर्ड स्थापित कर सकता है। बता दें कि बाघ अपने प्रभुत्व के लिए नया क्षेत्र या नया पार्टनर ढूंढने के लिए पलायन करते हैं। सी1 को इसी साल फरवरी में रेडियो कॉलर किया गया था जिसके बाद से वन अधिकारी उसे बराबर मॉनिटर कर रहे थे।

13 अक्टूबर से 30 अक्टूबर के बीच वह उमरखेड़ वन श्रृंखला में था। 30 अक्टूबर को उसे नांदेड़-यवतमाल की सीमा पर कैमरा में देखा गया। गुरुवार को वह मराठवाड़ा के हिंगोली डिविजन में पहुंचा। हिंगोली जिले के वन अधिकारी केशव वाबले ने शुक्रवार को हताया कि बाघ ने जिले के दो गांवों चार गायों को मार दिया है और फिलहाल कलगांव में रह रहा है।

औरंगाबाद चीफ कन्जर्वेटर ऑफ फॉरेस्ट्स पीके महाजन ने कन्फर्म किया है कि सी1 टीपेश्वर, ‘आधिकारिक रेकॉर्ड्स के मुताबिक गौटला औतरमघाट सैंक्चुअरी में 1972 में बाघ के शिकार की घटना सामने आई थी और मराठवाड़ा में उसके बाद कोई बाघ नहीं देखा गया।’ पेंच टाइगर रिजर्व के फील्ड डायरेक्टर रविकरण गोवेकर ने बताया है कि सी1 हिंगोली में आने से पहले आदिलाबाद, पंधारकवड़ा, एफडीसीएम किनवट, नांदेड़ डिविजन, पैनगंगा सैंक्चुअरी, पुसाड डिविजन और ईसापुर सैंक्चुअरी में घूमा।

माना जा रहा है कि जल्द ही सी1 किसी जगह पर बस सकता है। उसे मॉनिटर किया जा रहा है को जितना ज्यादा हो सके उसके हिसाब से ही उसे घूमने दिया जा रहा है। जिन लोगों के मवेशियों को नुकसान पहुंचा है उन्हें मुआवजा दिया जाएगा। गांववालों से भी शांत रहने को कहा गया है। साथ ही उन्हें खुले में न सोने और मवेशियों का ख्याल रखने के लिए कहा गया है।

Check Also

महिला सुरक्षा का अभाव शर्म की बात: मोहन भागवत

नागपुर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ () के प्रमुख ने रविवार को के अभाव पर खेद प्रकट …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *