Wednesday , September 18 2019, 8:54 AM
ब्रेकिंग न्यूज
Hindi News / क्राइम / IAS की पत्नी की मौत: फिर उलझी गुत्थी, अब जर और जमीन की ओर मुड़ी

IAS की पत्नी की मौत: फिर उलझी गुत्थी, अब जर और जमीन की ओर मुड़ी

लखनऊ
सूडा निदेशक की पत्नी अनीता सिंह की संदिग्ध हालात में मौत का मामले में हत्या और खुदकुशी के बाद अब प्रॉपर्टी विवाद का भी ऐंगल जुड़ गया है। आईएएस उमेश प्रताप सिंह और उनके खिलाफ एफआईआर लिखाने वाले चचेरे साले राजीव सिंह एक-दूसरे पर प्रॉपर्टी कब्जाने के आरोप लगा रहे हैं।

उमेश प्रताप सिंह ने शनिवार को राजीव सिंह के खिलाफ मानहानि और ब्लैकमेलिंग का आरोप लगाते हुए चिनहट कोतवाली में तहरीर दे दी है। उमेश ने दयाल पैराडाइज के मालिक राजेश सिंह पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं। इससे पहले शुक्रवार को उन्होंने एडीजी पीएसी बीके सिंह पर भी गंभीर आरोप लगाए थे। शनिवार को आईएएस उमेश प्रताप सिंह ने अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी से एडीजी बीके सिंह के खिलाफ शिकायत करते हुए अपनी सुरक्षा की मांग की है।

सूडा निदेशक का आरोप है कि चचेरे साले राजीव सिंह उनके ससुर राम इकबाल सिंह की गांव की प्रॉपर्टी पर कब्जा करना चाहते हैं। उमेश प्रताप का आरोप है कि ब्लैकमेल करने के लिए राजीव ने उनके खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज करवाई है। पुलिस ने महज उनकी तहरीर के आधार पर हत्या की रिपोर्ट कैसे दर्ज कर ली यह अपने आप में सवाल है।

उमेश ने राजीव के खिलाफ तहरीर दी
उमेश ने पुलिस को राजीव के खिलाफ तहरीर दी है। इंस्पेक्टर चिनहट का कहना है कि छानबीन की जा रही है। जांच के बाद रिपोर्ट दर्ज की जाएगी। वहीं, अपर मुख्य सचिव गृह को लिखे गए पत्र में उमेश ने कहा है कि राजीव कुमार सिंह अपने बहनोई एडीजी पीएसी बीके सिंह के प्रभाव का प्रयोग करके उनके खिलाफ साजिश कर रहे हैं। उधर, राजीव सिंह का कहना है कि सूडा निदेशक पहले ही अपने ससुर की प्रॉपर्टी का काफी हिस्सा ले चुके हैं।

पुलिस ने दर्ज किया राजीव का बयान
इंस्पेक्टर सचिन सिंह ने शनिवार को राजीव सिंह का बयान दर्ज किया। राजीव सिंह ने एफआईआर को ही अपना बयान बताया। एसएसपी कलानिधि नैथानी और आईजी एसके भगत ने अब तक हुई जांच की प्रगति की जानकारी की।

अभी कोई पत्र नहीं मिला: अवनीश अवस्थी
उधर, एडीजी पीएसी बीके सिंह ने कहा, इस मामले से मेरा लेनादेना नहीं हैं। अनीता सिंह राजीव की चचेरी बहन हैं। उन्हें लगा कि मामले की जांच होनी चाहिए, इसलिए एफआईआर करवाई होगी। वहीं, अपर मुख्य सचिव, गृह विभाग अवनीश अवस्थी ने कहा, ‘आईएएस उमेश प्रताप सिंह की तरफ से कोई पत्र मुझे नहीं मिला है। पत्र मिलने पर परीक्षण करवा के कार्रवाई की जाएगी।’

Check Also

कर्ज में डूबी मां, पहले बेटे और अब 1 लाख में बेटी को बेचा

Share this on WhatsApp नई दिल्ली कर्ज में डूबी मां ने एक लाख रुपये के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *